dm deepak rawat take this step for safe travel
Breaking News Latest News Uttarakhand

अच्छी पहल: डीएम दीपक रावत का ये काम, बचाएगा हजारों लोगों की जान

चंद्रशेखर जोशी।
हरिद्वार—देहरादून, हरिद्वार—दिल्ली, हरिद्वार—बिजनौर राष्ट्रीय राजमार्गों व राष्ट्रीय राजमार्ग 334 ए तहसील लक्सर में हरिद्वार बार्डर से (पुरकाजी-लक्सर-हरिद्वार) सिंह द्वार में होने वाली सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपक रावत ने अच्छी पहल की है। जिलाधिकारी दीपक रावत ने संबंधित क्षेत्रों और विभागों के अधिकारियों की एक संयुक्त सर्वेक्षण—निरीक्षण कमेटी बनाई हैं जो इन मार्गों पर पडने वाले संभावित दुर्घटना क्षेत्रों का पता लगाकर उनका समाधान करेगी। ये काम चारधार यात्रा से पहले किया जाएगा।
आपको बता दें कि हरिद्वार के इन राष्ट्रीय राजमार्गों पर सालाना सैकडों लोगों की जान जाती है। हालांकि हरिद्वार—दिल्ली राष्ट्रीय राजमार्ग का फोरलेन कार्य प्रगति पर हैं लेकिन जहां ये बन गया है वहां सडक दुर्घटनाओं में कमी आई है। फिर भी हरिद्वार—बिजनौर, हरिद्वार दिल्ली, हरिद्वार—देहरादून और हरिद्वार—लक्सर मार्ग पर ऐसे दर्जनों संभावित दुर्घटना स्थल हैं जिनका समाधान किया जाना जरूरी है। इस कमेटी ने अच्छी तरह से काम किया तो ये हरिद्वार के लोगों के साथ—साथ देश विदेश से आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए भी वरदान साबित होगी। इससे हजारों लोगों की जिंदगी बचाई जा सकेगी। जिलाधिकारी की इस पहल को हरिद्वार के स्थानीय लोगों ने खूब सराहा है। लोगों का कहना है कि इस काम के लिए जिलाधिकारी बधाई के पात्र है।
सूचना विभाग से जारी हुआ प्रेस नोट———
जिलाधिकारी दीपक रावत द्वारा अगले माह से प्रारम्भ होने वाली चारधाम यात्रा 2019 के दृष्टिगत राष्ट्रीय राजमार्गों को सुगम व दुर्घटना रहित बनाने हेतु राष्टीय राजमार्ग 58 जनपद हरिद्वार के बार्डर नारसन से सप्तऋषि तक, राष्ट्रीय राजमार्ग 74 चिड़ियापुर से चण्डीचैक तक, राष्ट्रीय राजमार्ग 334ए तहसील लक्सर में हरिद्वार बार्डर से (पुरकाजी-लक्सर-हरिद्वार) सिंह द्वार तक, राष्ट्रीय राजमार्ग 73 तहसील भगवानपुर में हरिद्वार बार्डर मंडावर से रूड़की के मार्ग के सर्वेक्षण हेतु संयुक्त सर्वेक्षण कमेटी का गठन किया गया है।
सम्बन्धित क्षेत्र के अधिशासी अभियंता/सहायक अभियंता, लोक निर्माण विभाग को, गठित संयुक्त सर्वेक्षण कमेटी का अध्यक्ष नामित किया गया है, जो गठित कमेटी के साथ समन्वय स्थापित करते हुए समस्त राष्ट्रीय राजमार्ग का अगले तीन दिवस के अंदर संयुक्त रूप से निरीक्षण करते हुए निर्धारित प्रारूप पर अपनी आख्या उलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।
लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता/सहायक अभियंता उक्त कमेटी के अध्यक्ष होंगे, जो गठित कमेटी के सदस्यों के साथ अविलम्ब समन्वय स्थापित कर संयुक्त निरीक्षण करेंगे।
सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी हरिद्वार एवं रूड़की संबंधित टैक्सी यूनियन से समन्वय स्थापित करते हुए नामित प्रतिनिधि का नाम एवं उनका मोबाईल नं0 तत्काल संबंधित अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे।
कमेटी सुनिश्चित करेंगी कि जहां-जहां पर सड़क क्षतिग्रस्त हुई है और जहां पर दुघर्टना की संभावना बनी रहती है, उसकी फोटो भी भी संलग्न की जाएं। गठित टीम के अध्यक्ष यह भी सुनिश्चित करेंगे कि सर्वे रिपोर्ट का मानचित्र भी उपलब्ध कराया जाए तथा सर्वे रिपोर्ट मानचित्र में भी दर्शाया जाए।
जिलाधिकारी ने संबंधित अधिशासी अभियंता/सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों से भी आवश्यकतानुसार समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.