Uttarakhand

‘स्वामी यतीश्वरानंद को झटका, विरोधियों के खिलाफ पार्टी ने नहीं की कार्रवाई’

चंद्रशेखर जोशी।
हरिद्वार ग्रामीण से भाजपा विधायक स्वामी यतीश्वरानंद के खिलाफ सडकों पर उतरे हजारों लोगों की अगुवाई करने वाले ग्यारह भाजपा नेताओं पर कार्रवाई ना होने से यतीश्वरानंद को करारा झटका लगा है। सूत्रों के मुताबिक संगठन इन नेताओं पर कार्रवाई के मूड में भी नहीं दिखाई दे रहा है। गौरतलब है कि स्वामी यतीश्वरानंद विरोधियों पर कार्रवाई न होने से नाराज हैं और इसी के कारण वो पिछले दिनों हुई भाजपा जिला कार्यसमिति की बैठक में भी नहीं आए थे।
स्थानीय भाजपा नेताओं ने स्वामी यतीश्वरानंद का ये कहते हुए विरोध किया था कि वो स्थानीय नहीं है और भाजपा को स्थानीय नेताओं को ही पार्टी से टिकट दिया जाना चाहिए। उन्होंने स्वामी यतीश्वरानंद पर गंभीर आरोप लगाते हुए उन पर अवैध खनन कराने का भी आरोप लगाया था। साथ ही स्थानीय नेताओं को तरजीह ना देने का भी आरोप लगाया था। इसके खिलाफ विरोधी नेताओं ने बाइक रैली निकाली थी इसमें हजारों लोग शामिल हुए थे। इस पर प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल की ओर से ग्यारह नेताओं को नोटिस जारी किया गया था। जिला अध्यक्ष सुरेश राठौर ने साफ कहा था कि तीन दिन के भीतर जवाब देना है कि इसके बाद कार्रवाई होगी। उन्होंने ये भी कहा था कि विरोध करने वाले लोगों को माफी मांगनी चाहिए। उधर, विरोधी नेताओं ने सीधे तौर पर नरेश बंसल पर भी गंभीर आरोप लगा दिए थे। लेकिन कार्रवाई ना होने से स्वामी यतीश्वरानंद को झटका लगा है। वहीं इस विरोध का फायदा उठाने के लिए भाजपा के ही दूसरे गुट जुगत में लग गए हैं।
क्या कहते हैं नेता

सभी ग्यारह लोगों का जवाब हमें मिल गया है। इस संबंध में प्रदेश अध्यक्ष को अवगत करा दिया गया है। प्रदेश अध्यक्ष ही कार्रवाई करेंगे।
नरेश बंसल, प्रदेश महामंत्री, भाजपा।
मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता हूं। सभी पार्टी के कार्यकर्ता हैं पार्टी को मजबूत करने का प्रयास करना चाहिए।
सुरेश राठौर, भाजपा जिलाध्यक्ष।
हमारा विरोध स्थानीय प्रत्याशी के मसले पर हैं। स्वामी बाहरी हैं इसलिए हमने विरोध किया है। हम अपने बयान पर कायम हैं। हम भाजपा में हैं और रहेंगे। टिकट ​आवंटित होने के बाद समर्थकों के साथ बैठक होगी।
ठाकुर अर्जुन सिंह चौहान, भाजपा नेता, हरिद्वार ग्रामीण।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.