why-women-are-arrested-in-this-case-repeatedly
Breaking News crime Latest News Uttarakhand Viral News

ऋषिकेश में बार—बार महिलाएं इस आरोप में क्यों हो रही है गिरफ्तार

चंद्रशेखर जोशी।
उत्तराखण्ड के ऋषिकेश और रायवाला इलाके में पुलिस महिलाओं को पिछले कुछ दिनों मेंं कई बार गिरफ्तार कर चुकी है। महिलाओं की गिरफ्तारी से भी बडी बात है कि महिलाओं को जिस आरोप में गिरफ्तार किया जा रहा है कि वो खुद उनके लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है। हम बात कर रहे हैं हर बुराई की जड यानी शराब की। शराब तस्करी के आरोप में पिछले एक माह में ऋषिकेश पुलिस ग्यारह महिलाओं को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें से अधिकतर को मलिन बस्तियों में शराब तस्करी के लिए लगाया जाता है। कई महिलाएं ऐसी हैं जो एक से ज्यादा यानी कई बार पुलिस के हत्थे चढ चुकी है।

why-women-are-arrested-in-this-case-repeatedly
इनमें जानकी पत्नी स्वर्गीय गणेश साहनी निवासी चंद्रेश्वर नगर चंद्रभागा ऋषिकेश देहरादून, रेखा पत्नी सुरेन्द्र निवासी चन्द्रेश्वरनगर चन्द्रभागा ऋषिकेश, गुजरी पत्नी पातीलाल निवासी झुग्गी झोपड़ी मायाकुण्ड ऋषिकेश, संतोष पत्नी वीर सिंह निवासी जाटव बस्ती ऋषिकेश, कृष्णा पत्नी स्व० राजे, निवासी नई जाटव बस्ती ऋषिकेश,ममता पत्नी संजय साहनी निवासी जाटव पता मायाकुंड झुग्गी झोपड़ी ऋषिकेश, चानू पत्नी मनोज दास निवासी मायाकुंड झुग्गी झोपड़ी ऋषिकेश, बुधनी पत्नी शंकर साहनी निवासी बंगाली बस्ती मायाकुंड ऋषिकेष, संतोष पत्नी वीर सिंह निवासी जाटव बस्ती ऋषिकेश, कृष्णा पत्नी स्वर्गीय राजे निवासी जाटव बस्ती ऋषिकेश, अनिता पत्नी भग्गू साहनी निवासी झुग्गी झोपड़ी मायाकुंड ऋषिकेश शामिल हैं। इन सभी महिलाओं को देशी शराब की बोतलों के साथ पकडा गया है।

why-women-are-arrested-in-this-case-repeatedly
लेकिन बडा सवाल ये है कि ऐसी क्या मजबूरी है कि ये महिलाएं शराब तस्करी को तैयार हो गई है। जाहिर सी बात है गरीबी और बेरोजगारी इसका अहम कारण तो है ही साथ ही अपना धंधा बेहतर करने और पुलिस की आंख से बचने के लिए शराब तस्कर इन महिलाओं का प्रयोग करते हैं। हालांकि इन पर कार्रवाई के साथ—साथ शराब तस्करों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।
लेकिन पुलिस की कार्रवाई से ये बात तो साफ है कि धर्मनगरी ऋषिकेश में अवैध शराब तस्करी का धंधा बडे स्तर पर चल रहा था। पुलिस की इस तरह की कार्रवाई से इसमें कुछ कमी आने के संकेत तो मिलते ही हैं। हालांकि ये ट्रेंड अमूमन हर शहर का है। हरिद्वार में भी बडे पैमाने पर महिलाओं को शराब तस्करी के लिए प्रयोग किया जाता है। कुछ महिला शराब तस्कर तो बाकायदा अपना गिरोह चलाती हैं। जो पुलिस के लिए सिरदर्द भी हैं। आरटीआई से मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार शहर में करीब पच्चीस से तीस महिलाएं शराब तस्करी में गिरफ्तार हो चुकी हैं। कुछ तो लगातार ये काम कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.