minor girl who killed her mother found dead
Breaking News crime Dehradun Haridwar Latest News Uttarakhand Viral News

उत्तराखण्ड: जिसमफरोशी कराने वाली मां की हत्या करने वाली नाबालिग बेटी की संदिग्ध मौत

चंद्रशेखर जोशी।
नाबालिग बेटी से जिस्मफरोशी कराने वाली मां की हत्या के आरोप में गिरफ्तार नाबालिग लडकी की देहरादून स्थित नारी निकेतन में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की खबर सामने आई है। हालांकि अभी तक मौत के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है और पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है। लडकी का शव बाथरूम में मिला है। वहीं इस मामले की विभागीय जांच भी शुरू कर दी गई है। गौरतलब है कि 17 सितम्बर को कनखल के आनंद धाम कॉलोनी में 30 साल की महिला किरण देवी पत्नी चंद्रपाल निवासी गायत्री विहार भूपतवाला हरिद्वार की लाश मिली थी। महिला की चाकू से गोदकर हत्या की गई थी और कमरा बाहर से बंद था।
शव की दुर्गंध आने पर हत्या का पता लग पाया था। जांच में पुलिस ने हत्या के मामले में महिला की पंद्रह साल की बेटी को गिरफ्तार किया था। उसकी बेटी ने खुलासा किया था कि उसकी मां उससे जबरदस्ती जिस्मफरोशी करा रही थी। विरोध करने पर उसे पीटा जाता था। हत्या के बाद वो पंजाब चली गई थी। गौरतलब है कि महिला का अपने पति से विवाद चल रहा था और दोनों अलग—अलग रहते थे।

—————
मां ने नाबालिग बेटी का तीस हजार में किया सौदा
कनखल थाना प्रभारी ओम कांत भूषण ने बताया कि लडकी ने पूछताछ में खुलासा किया कि हरिद्वार लाने के बाद किरण ने अपनी बेटी को तैयार किया और एक अधेड आदमी के पास भेज दिया। उसने उसके साथ मारपीट की और गलत काम करने का प्रयास किया लेकिन वो सफल नहीं हो पाया। इसके लिए मां ने तीस हजार रुपए लिए ​थे। सितम्बर में ही उसे दोबारा एक आदमी के पास भेजा गया और उसने उसके साथ गलत काम किया। इसके बाद उसने मां से ये काम ना कराने की गुहार लगाई तो मां ने उसके साथ मारपीट की और उसे कमरे में बंद कर दिया। तभी बेटी ने अपनी मां की हत्या का प्लान किया था। बेटी ने बताया कि मां ने उसका स्थानीय स्कूल में दाखिला भी कराया था। आठवीं की कक्षा में दाखिला कराने के बाद भी उसे स्कूल नहीं भेजा जाता था और कमरे में बंद रखा जाता था। इससे पीछा छुडाने के लिए मां किरण जब नींद की गोलियां खाकर सो रही थी तभी बेटी ने सोते हुए उस पर चाकू और पाठल से वार कर दिया। इसके बाद वो सहारनपुर होते हुए पंजाब चली गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.