Breaking News Latest News Uttarakhand

व्यापारियों का बाजार बंद, पुलिस का केस वापसी से इनकार, मदन समर्थक गदगद

चंद्रशेखर जोशी, हरिद्वार।
अतिक्रमण हटाओं अभियान के तहत व्यापारी नेता और सांसद निशंक के प्रतिनिधि संजय त्रिवाल के समर्थन ने रविवार को बारिश के बावजूद व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठानों और दुकानों को बंद कर विरोध किया। विरोध के बाद व्यापारियों ने आला अधिकारियों से भी मुलाकात की लेकिन व्यापारियों के विरोध के बाद भी पुलिस ने केस वापस लेने से इनकार कर दिया है। हालांकि व्यापारियों को निष्पक्ष कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है। उधर, मंत्री मदन कौशिक गुट के समर्थक व्यापारियों ने अपनी दुकानें खुली रखी और आरोप लगाया कि मामले का राजनीतिक लाभ लेने के लिए कुछ व्यापारियों ने बंध की कॉल की थी।
व्यापारी नेता संजीव नैयर ने बताया कि अपर रोड बाजार से लेकर, खडखडी, हरकी पैडी, भूपतवाला और भीमगोडा सभी बाजार बंद रहे। यहां व्यापारियों ने बंडी संख्या में बंद का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि हमने पुलिस को अपनी ताकत दिखा दी है और अब पुलिस हमारी सभी मांगे मानने को राजी है। इसमें केस वापस लिए जाने की मांग भी शामिल हैं। व्यापारी नेता सुनील सेठी ने कहा कि बाजार बंद पूरी तरह सफल रहा है। व्यापारियों ने बारिश के बाद भी गजब की एकता दिखाई है। इससे व्यापारी एकता विरोधी तत्वों को तगडा झटका लगा है।

 


लेकिन पुलिस ने केस वापस लेने से साफ इनकार कर दिया है। नगर कोतवाली प्रभारी चंद्रभान सिंह अधिकारी ने बताया कि केस वापस नहीं लिया जा रहा है। सिर्फ निष्पक्ष जांच की जाएगी जो पुलिस हमेशा करती है। किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण अभियान आगे भी जारी रहेगा। नाली से नाली तक अतिक्रमण पर व्यापारियों और पुलिस में सहमति बन गई है। लेकिन उसके बाहर किसी तरह का अतिक्रमण बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।


मदन समर्थक व्यापारियों ने जताई खुशी, बंद को बताया विफल
केस वापस ना लिए जाने के बाद मंत्री मदन कौशिक के समर्थक व्यापारियों ने खुशी जाहिर करते हुए कहा ये बंद पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित था। भाजपा नेता दीपक नाथ गोस्वामी ने कहा कि बाजार बंद सिर्फ कांग्रेस और एक गुट के व्यापारियों ने किया था। उन्होंने कहा कि पहले ये तय हुआ था कि सभी व्यापारी मदन कौशिक से मुलाकात करेंगे। लेकिन मुलाकात के बिना ही बंद का ऐलान कर दिया। इससे साफ होता है कि राजनीतिक लाभ लेने के लिए ये सब किया जा रहा था। इसलिए हमने अपना बाजार बंद नहीं होने दिया और सभी व्यापारियों ने दुकानें खोल कर रखी। इसके अलावा युवा नेता विदित शर्मा ने भी बंद का विरोध किया। जबकि, युवा भाजपा नेता उज्जवल पंडित ने भी बंद को विफल बताते हुए उन्होंने कहा कि हम किसी भी कीमत पर व्यापारियों के नाम पर राजनीति नहीं होने देंगे। अगर जरूरत पडी तो अलग व्यापार मंडल का गठन कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.