युवा तुर्क

भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए राजनीति में आई

ब्यूरो। भाजपा नेत्री राखी सजवाण अपनी वाकपटुता के लिए जानी जाती हैं। राजनीति के साथ—साथ सामाजिक कार्यों में भी उनकी खासी रूचि हैं। राजनीति में आने का उनका मकसद भ्रष्टाचार को खत्म करना है। इसके लिए वो अब वकालत भी पढ़ रही है। राजनीतिक क्रियाकलापों के अलावा घर की जिम्मेदारियां संभालना आसान नहीं होता है, लेकिन दोनों में तालमेल बिठाकर राजनीति कर रही राखी क्या सोचती है राजनीति के बारे में आइए जानते हैं….

प्रश्न— राजनीति में युवाओं की भूमिका किस तरह देखते हैं?
देश का भविष्य ही युवा पीढ़ी है। देश का युवा चाहे तो पूरी राजनीति का स्वरूप बदल सकता है। आज राजनीति का तरीका और मिजाज बदलने की आवश्यकता है। जब युवा जागरूक होंगे तो जनप्रतिनिधि चाहे वो किसी भी दल के हो, काम करेंगे। युवाओं की भूमिका पेड़ के एक तने के समान है।

ये खबर आप www.news129.com पर पढ़ रहे हैं 

c5d1b6a2-2e67-414f-a348-9ef61b211e09

प्रश्न— आपको राजनीति में आने के लिए किससे प्रेरणा मिली?
मैं अपने समाज की जरूरतों को पूरा करने के लिए राजनीति में आई हूं।

प्रश्न— आपकी शुरूआत छात्र राजनीति से हुई या फिर महिला अधिकारों के आंदोलनों के जरिए राजनीति में आए हैं या फिर सीधे ही सक्रिय राजनीति में आए हैं?

शिवालिक नगर में आवास विकास द्वारा आवंटित दुकानों में लगातार 5 वर्ष तक भ्रष्टाचार हो रहा था। ये मुझे नागवार गुजरा। मैंने इसके खिलाफ आंदोलन किया और दुकानों के आवंटन को सही कराया। तभी से राजनीति को आवश्यक मान कर मैं इसका हिस्सा बन गई हूं।

प्रश्न — आप को राजनीति में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा?
बिना चुनौतियों के आप सफलता प्राप्त नहीं कर सकते हैं। जो भी हालात मेरे सामने आते हैं मैं उनका डट के मुकाबला करती हूं। पुरुष प्रधान समाज में काम करना तो सबसे बड़ी चुनौती है।

प्रश्न —राजनीति में आने के लिए आपको परिवार में सबसे ज्यादा सहयोग किससे मिला?
मेरे परिवार से मुझको पूरा सहयोग मिला। मेरे ससुस ने मेरा सबसे ज्यादा सहयोग किया। ससुर के बाद मेरे पति मेरा पूरा सहयोग करते हैं।

134879f5-8385-46d1-a7e6-cfe395258411

प्रश्न —राजनीति में आपका रोल मॉडल कौन है?
आचार्य चाणक्य मेरे रोल मॉडल हैं। मैं उनसे काफी प्रेरणा लेती हूं।

प्रश्न —क्या बिना पैसे के राजनीति में अच्छा मुकाम मिल सकता है?
पैसा हर व्यवस्था को संचालित करने के लिए आवश्यक है। इसके प्रयोग की वयवस्था महत्वपूर्ण है। लेकिन पैसे से किसी को कोई मुकाम नहीं मिलता है। ये आपके गुणों पर निर्भर करता है।

प्रश्न —क्या भाई—भतीजावाद के सामने युवा प्रतिभा दम तोड रही हैं?
ये राजनीति में सबसे ज्यादा गलत परंपरा है। मैं मानती हूं कि हर व्यक्ति के अंदर अलग—अलग गुण होते हैं। जरूरी नहीं कि परिवार के सभी लोगों में एक ही तरह के गुण हों। अयोग्य व्यक्ति को अधिकार देने से अहित ही होता है।

प्रश्न —आपके आय के स्रोत क्या हैं, पैसे की किल्लत के कारण कभी परिवार में डांट पड़ती है?
नहीं मुझे मेरे परिवार से कभी डांट नहीं पडी है। मैं एक बिजनेस वूमैन हूं।
प्रश्न —आपको मुख्यमंत्री बना दिया जाए, तो आप कौन सा एक काम करना चाहेंगे, जिसके लिए आपको प्रदेश की जनता याद रखे?
मैं पलायन को रोक युवाओं को रोजगार और प्रत्येक महिला को सक्षम और सशक्त करूंगी। सर्वे भवंतु सुखिन: का सपना साकार करना मेरा सपना होगा।

1e94c359-4a8f-44c6-9aae-a5c2833832cd

प्रश्न —क्या आप अपने अब तक के राजनीति करियर से संतुष्ट हैं?
मैं अपने अंदर समाहित अपनी राजनीतिक योग्यता से पूरी तरह संतुष्ट हूं। मैंने प्रत्येक पल नया अनुभव किया है।

प्रश्न —आपकी रूचि क्या—क्या हैं?
खाना बनाना मेरा शौक है आज भी मैं पूरे परिवार के लिए खुद ही खाना बनाती हूं। इसके अलावा इन दिनों किताबें पढ रही हूंं।

प्रश्न —आपके पसंदीदा लेखक, एक्टर, एक्ट्रेस, खिलाड़ी और पत्रकार का नाम बताएं?

मेरे पसंदीदा एक्टर अक्षय कुमार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.