युवा तुर्क

‘बिना पैसे के राजनीति में मुकाम हासिल करना मुश्किल है’

भाजपा युवा मोर्चा से राजनीतिक करियर की शुरूआत करने वाले आलोक चौहान रानीपुर विधानसभा में भाजपा के युवा तुर्क बनकर उभरे हैं। युवाओं की राजनीति के बारे में वो क्या सोचते हैं, आइये देखते है…
प्रश्न— राजनीति में युवाओं की भूमिका किस तरह देखते हैं?

उत्तर— राजनीति में युवाओं का प्रमुख योगदान रहता है किसी भी प्रकार का मुद्दा या किसी भी विषय को दृढ़ता के साथ केवल युवा वर्ग ही उठा सकता है। युवा राजनीति की दिशा तय करते हैं।

प्रश्न— आपको राजनीति में आने के लिए किससे प्रेरणा मिली?
उत्तर : मुझे समाज में दिन प्रतिदिन हो रहे अनैतिक कार्यों के प्रति किसी भी राजनीतिक व्यक्ति का संवेदनशील ना हो पाने के कारण तथा अटल बिहारी वाजपेयी जी के कारण राजनीति में आने का मन हुआ। अटल जी ही मेरी प्रेरणा है।

प्रश्न— आपकी शुरूआत छात्र राजनीति से हुई या किसी और कारण से राजनीति में आए हैं या फिर सीधे ही सक्रिय राजनीति में आए हैं?
उत्तर: में सीधे ही सक्रिय राजनीति में आया हूं।

प्रश्न — आप को राजनीति में किन चुनौतियों का सामना करना पड़ा?
उत्तर: राजनीति में सबसे बड़ी चुनौती तो अपने लोगों की गुटबाज़ी है। आप किसी भी अच्छे कार्य को करने चलोगे तो विरोधियों से पहले आप को अपने लोगों के विरोध का सामना करना पड़ता है।

प्रश्न —राजनीति में आने के लिए आपको परिवार में सबसे ज्यादा सहयोग किससे मिला?
उत्तर। परिवार के सभी सदस्यों का।

प्रश्न — अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए आपके पास क्या योजना है
उतर : अपनी पार्टी को मजबूत करने के लिए सबसे पहले गुटबाजी को खत्म करके सभी को एक जुट लाने का प्रयास में बार—बार करता हूं। जैसे की अपने पिछले कार्यकाल में रानीपुर युवा मोर्चा का किसी भी प्रकार का विवाद देखने को नहीं मिला।

प्रश्न — भ्रष्टाचार को कैसे खत्म किया जा सकता है।
उत्तर: मेरी राय में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए युवा वर्ग को जागरूक होना जरुरी है। किसी भी विभाग में या किसी भी कार्य स्थल पर गलत हो रहे कार्य को रोकने के लिए युवाओं को आगे आना होगा। अगर हम बिना डरे सही बात का समर्थन करे तो इसे रोका जा सकता है।

प्रश्न — अपने क्षेत्र की तीन प्रमुख समस्याएं बताइये।
उत्तर: मुख्य मार्ग की सड़कें जिसका संबंध राज्य सरकार से है। सीवर लाइनों का विस्तार जरूरी है। फ्रेगमेंट कानून का मसला भी यहां भी बडी समस्या है।

प्रश्न — राजनीति में आपका रोल मॉडल कौन है?

उतर: अगर राष्ट्रीय स्तर की बात करें तो अटल जी और प्रदेश स्तर में खंडूरी जी और स्थानीय स्तर पर आदेश चौहान जी राजनीति में मेरे रोल मॉडल हैं।

प्रश्न — क्या बिना पैसे के राजनीति में अच्छा मुकाम मिल सकता है?
उतर: बिना पैसे के राजनीति में मुकाम आज के परिवेश में बहुत ही मुश्किल है। पर यदि आप को आगे बढ़ने में आप की महेनत के साथ साथ आप को सही व्यक्ति मिल जाये तो संभव भी हो सकता है।

प्रश्न — क्या भाई—भतीजावाद के सामने युवा प्रतिभा दम तोड रही हैं?
उतर: भाई भतीजावाद राजनीतिक व्यक्ति का सब से बड़ा दुश्मन है।

प्रश्न —आपके आय के स्रोत क्या हैं, पैसे की किल्लत के कारण कभी परिवार में डांट पड़ती है?
उतर: में अपना खुद का कारोबार करता हूं और मेरे व्यापार और राजनीति के बीच में हमेश समन्वय बना कर रखता हूं।
प्रश्न —आपको मुख्यमंत्री बना दिया जाए, तो आप कौन सा एक काम करना चाहेंगे, जिसके लिए आपको प्रदेश की जनता याद रखे।
उतर— यदि में मुख्यमंत्री बनता हूं तो सबसे पहले प्रदेश में बेलगाम अफसरों पर लगाम लगाने का काम करूंगा और रोजगार के नए अवसर पैदा करूँगा।

प्रश्न —क्या आप अपने अब तक के राजनीति करियर से संतुष्ट हैं
उतर: अगर राजनीतिक व्यक्ति की बात करे तो वो कभी भी अपने कैरियर से संतुष्ट नहीं हो पाता क्योंकि राजनीति में हर पल आगे बढ़ने का प्रयास जारी रहता है।

प्रश्न —आपकी रूचि क्या—क्या हैं?
उतर: मेरी रुचि खली समय में संगीत सुनना है।

प्रश्न —आपके पसंदीदा लेखक, एक्टर, एक्ट्रेस, खिलाड़ी और पत्रकार का नाम बताएं?
उतर: मुंशी प्रेमचंद, अमिताभ जी, कोई नहीं , सचिन तेंदुलकर और अमिताभ अग्निहोत्री।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.