helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot
Breaking News Latest News Uttarakhand Uttarkashi Viral News

उत्तरकाशी: राहत बचाव कार्य में लगा हेलीकॉप्टर क्रेश, तीन की मौत, ऐसे हुआ हादसा, देखें तस्वीरें

चंद्रशेखर जोशी।
उत्तरकाशी के आराकोट क्षेत्र में बादल फटने से हुई तबाही के बाद राहत और बचाव कार्य में लगा हेलीकॉप्टर आराकोट से लौटते हुए मोल्डी इलाके में क्रेश हो गया। इस हादसे में पायलट, को पायलट और एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई। वहीं सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हादसे में मारे गए तीनों लोगों को 15—15 लाख रुपए का मुआवजा के ऐलान किया है।

helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot
helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot

——————
कैसे हुआ हादसा
जानकारी के मुताबिक बुधवार को राहत बचाव कार्य में लगा हैरिटेज कंपनी का हेलीकॉपटर जिसमें पायलट रंजीव लाल, को पायलट शैलेष और स्थानीय स्वयंसेवी राजपाल राणा सवार थे, आराकोट में मुख्यालय से राहत सामग्री लेकर निकला था। वापस लौटते हुए हेलीकॉपटर रोपवे की तारों की चपेट में आ गया। अनियंत्रित होने के कारण हेलीकॉप्टर पहाडी से टकराकर क्रेश हो गया। रोपवे की ये तारें कृषि उत्पादों को लाने के लिए बनाई गई थी। सूचना के बाद प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और जहां हेलीकॉप्टर क्रेश हुआ था वहां से तीनों लोगों के शवों के अवशेष बरामद किए।

helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot
helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot

—————
सीएम ने किया मुआवजे का ऐलान
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस घटन पर गहरा दुख व्यक्त किया और इस घटना को दुखदायी बताया। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 15—15 लाख रुपए के मुआवजे का भी ऐलान किया है। आपको बता दें कि उत्तरकाशी जनपद के मोरी ब्लॉक के आराकोट सहित करीब दस गांवों में बादल फटने के बाद भारी तबाही मची थी।

helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot
helicopter crash in uttarkashi three killed including pilot

यहां अब तक 13 लोगों के शव मिल चुके हैं। जबकि कई लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं। प्रभावित गांवों में राहत और बचाव कार्य चल रहा है। यहां एसडीआरएफ और स्थानीय प्रशासन की टीमें लगी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.