Gangster Yashpal Tomar close criminal property sealed by Uttarakhand STF

हरिद्वार में सक्रिय नामी बदमाश के गुर्गे पर एसटीएफ का शिकंजा, झूठे मुकदमें में कराकर फंसाते थे

विकास कुमार।
उत्तर प्रदेश के नामी बदमाश जो पिछले काफी समय से हरिद्वार में अरबों रुपए की भूमि पर नजर गडाने वाले यशपाल तोमर के गुर्गे पर भी एसटीएफ ने शिंकजा कस दिया हैं। एसटीएफ ने तोमर के राइट हैंड धीरज डिगानी की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई की है। वहीं फरार चल रहे धीरज डिगानी की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। एसटीएफ का दावा है कि वकालत की पढाई करने वाला धीरज ही विवादित संपत्तियों के मामले में झूठे मुकदमें कराकर लोगों को जाल में फंसाता था और फिर प्रोपर्टी को औने—पौने कीमतों में सौदा किया जाता था। एसटीएफ इससे पहले यशपाल तोमर की करीब 153 करोड रुपए की प्रोपर्टी को भी कुर्क कर चुकी है। Gangster Yashpal Tomar close criminal property sealed by Uttarakhand STF
पुलिस के मुताबिक बेहद शातिर यशपाल का पूरा नेटवर्क उसका राइट हैंड धीरज डिगानी पुत्र स्वर्गीय राधेश्याम निवासी न्यू लामलपुर जगतपुरी शाहदरा नई दिल्ली संभालता है। मूल रूप से राजस्थान के निवासी धीरज ने वकालत की पढ़ाई की है और फर्राटेदार अंग्रेजी बोलता है। कानून की पढ़ाईकर चुका धीरज ही यशपाल की तरफ से उसके हर टॉरगेट के खिलाफ दर्ज होने वाले झूठे मुकदमे की पटकथा बेहद ही सटीक ढंग से तैयार करता था। करीब आठ साल से यशपाल के राइट हैंड के तौर पर कार्य कर रहे धीरज डिगानी का दिमाग इस दिशा में चलता है कि कैसे आमजन को झूठे मुकदमे में फंसाकर उसे पूरी तरह से बर्बाद कैसे करना है। गौरतलब है कि यशपला ने हरिद्वार के बडे कारोबारी तोष जैन और सराय में 56 बीघा भूमि विवाद में हाथ डाला था। जिसके बाद वो निशाने पर आया था।
एसटीएफ उसकी धरपकड़ में भी जुटी थी लेकिन वह उनके हाथ नहीं आ सका। एसटीएफ ने धीरज के खिलाफ कुर्की के आदेश कोर्ट से प्राप्त करते हुए कुर्की की कार्रवाई को अंजाम दिया है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि कुर्की की कार्रवाई कर ली गई है लेकिन अभी भी धीरज की तलाश में एसटीएफ जुटी है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!