14 साल बाद जेल से आया पति, पत्नी ने गला घोंटकर मार दिया, कारण पढ़कर हैरान रह जाएँगे

फरमान अली, लक्सर।

अपनी बहन के पति की हत्या के आरोप में 14 साल बाद जेल से बाहर आए लक्सर के रहने वाले व्यक्ति की हत्या उसी की पत्नी ने गला घोट कर कर दी।लक्सर कोतवाली थाना क्षेत्र में यह सनसनीखेज वारदात पिछले दिनों से सामने आई जब मृतक जयभगवान गिरी के भाई सीताराम ने पुलिस को बताया कि उसका भाई जयभगवान 13 जुलाई से लापता है और इसके बाद पुलिस ने जब जांच पड़ताल की तो पाया कि जयभगवान की हत्या उसकी अपनी पत्नी, बेटे और साले ने की थी। पुलिस का दावा है कि 14 साल पहले जब जयभगवान जेल गया था तब वह अपनी पत्नी अर्चना गिरी का हाथ अपने छोटे भाई सीताराम के हाथ में दे गया था और कहा था कि अब वह इसकी देखभाल करेगा और उसे संभालेगा। जेल जाने के बाद उसका भाई व्यक्ति की पत्नी को अपने साथ और पति पत्नी के तौर पर रखकर रहने लगा। इस बीच जयभगवान पर लगे आरोप को उसकी बहन ने वापस ले लिए और जयभगवान बाहर आ गया। लेकिन बाहर आने के बाद उसका अपनी पत्नी अर्चना से विवाद हो गया जो उसके भाई के साथ बतौर पत्नी रह रही थी। आरोप है कि मृतक अपनी पत्नी को पीटता था और उसे अपने भाई के बजाय अपने पास आने के लिए बोल रहा था। इससे तंग आकर पत्नी अर्चना ने अपनी पति की हत्या अपने बेटे और भाई के साथ मिलकर कर दी और उसका शव बाणगंगा में भेज दिया।

थाना खानपुर क्षेत्र में 13 जुलाई को सीताराम पुत्र सोल्लू गिरी निवासी तुगलपुर थाना खानपुर जनपद हरिद्वार के द्वारा अपने भाई जयभगवान गिरी निवासी तुगलपुर की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। तभी से इस केस की जांच गोरधनपुर पुलिस चौकी प्रभारी आशीष शर्मा द्वारा की जा रही थी। वहीं पुलिस द्वारा मृतक युवक की पत्नी अर्चना गिरी से पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो महिला ने बताया 13 जुलाई कि रात को गमछे से गला दबाकर उसने अपने पति की हत्या कर दी थी। तथा शव को अपने भाई मोनू गिरि एवं अपने पुत्र आलोक की मदद से बांण गगा नदी में फेंक दिया था।

खानपुर पुलिस द्वारा अभियुक्ता की निशानदेही पर बाणगंगा नदी में जल पुलिस एवं खानपुर पुलिस टीम द्वारा बाणगंगा नदी में मृतक जय भगवान के शव की तलाश की जा रही है लेकिन अभी तक पुलिस को शव बरामद नहीं हुआ वहीं पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त गमछा झाड़ियों से बरामद कर लिया है। जिसकी पहचान मृतक के भाई सुभाष गिरी ने की है।

वही पकड़ी गई महिला का संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है। वहीं पुलिस टीम में शामिल खानपुर थाना प्रभारी अभिनव शर्मा उप निरीक्षक आशीष शर्मा आशीष नेगी उपेन्द्र बिष्ट महिला उपनिरीक्षक कल्पना हेड कांस्टेबल जोहर सिंह कांस्टेबल इसरार महिला कांस्टेबल सुष्मिता रावत चालक कुलदीप आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा वही इस संबंध में लक्सर पुलिस क्षेत्राधिकारी बीएस चौहान ने बताया कि खानपुर क्षेत्र के तुगलपुर गांव में व्यक्ति की हत्या में उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया गया था। जिसने अपने पति की गमछे से गला दबाकर हत्या करने की बात कबूल की है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!