madan Kaushik did not become minister who will lead haridwar

जांच: भाजपा के उम्मीदवारों के साथ हुआ भीतरघात, हट सकते हैं मदन कौशिक, कौन होगा नया अध्यक्ष

विकास कुमार/ऋषभ चौहान।
उत्तराखण्ड में भाजपा ने 70 में से 47 सीटें जीती थी लेकिन बाकी की 23 सीटों पर हार क्यों मिली इसको लेकर भाजपा के नेताओं ने समीक्षा की और जिसमें 23 में से अधिकतर सीटों पर भीतरघात को हार का प्रमुख कारण माना गया। अब इस समीक्षा रिपोर्ट पर भाजपा के वरिष्ठ नेता बीएल संतोष उत्तराखण्ड आकर चर्चा करेंगे। जिन सीटों पर भीतरघात हुआ उनमें सीएम पुष्कर सिंह धामी, मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद, संजय गुप्ता, सुरेश राठौर, मुनीष सैनी और प्रणव सिंह चैंपियन शामिल हैं। गौरतलब है कि मतदान के तुरंत बाद संजय गुप्ता ने सीधे तौर पर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर भीतरघात करने का आरोप लगाया था। वहीं रिजल्ट आने तक गाहे—बगाहे संजय गुप्ता, स्वामी यतीश्वरानंद दोनों मदन कौशिक को कोसते नजर आ जाते थे। अब रिपोर्ट सामने आने के बाद मदन कौशिक की मुश्किलें बढ सकती है। माना जा रहा है कि मदन कौशिक को प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया जा सकता है और उनकी जगह गढवाल से किसी दूसरे ब्राह्मण चेहरे को कमान सौंपी जा सकती है।
वरिष्ठ पत्रकार अवनीश प्रेमी ने बताया कि 23 सीटों पर मिली हार की जो समीक्षा हुई है उसे गोपनीय रखा गया है। लेकिन, ये बात मानी है कि हारने वाली अधिकतर सीटों पर भीतरघात हुआ है। भीतरघात को कई दूसरे नेता पहले भी सार्वजनिक मंचों से बोल चुके हैं और इसमें मदन कौशिक पर भी हमला बोला गया है। वहीं दूसरी ओर मदन कौशिक को लेकर काफी शिकायतें दिल्ली भी पहुंची है। ऐसे में माना जा रहा है कि मदन कौशिक को प्रदेश अध्यक्ष पद से जल्द ही हटाया जा सकता है। हालांकि सवाल ये है कि मदन हटेंगे तो उनकी जगह कौन अध्यक्ष बनेगा। लेकिन ये साफ है कि कुमाउ से सीएम मिलने के बाद अब गढवाल से ब्राह्मण चेहरे को ही प्रदेश अध्यक्ष का पद मिलेगा। BJP leader madan kaushik will remove from state president post

————————————————
चैंपियन किससे सुनाएंगे दुखडा
वहीं प्रणव सिंह भी भीतरघात की बात से इनकार नहीं करते हैं। लेकिन विधायक उमेश कुमार सीधे सीएम धामी के घनिष्ठ मित्र हैं ऐसे में वो किससे कहेंगे और क्या कहेंगे। फिलहाल तो उमेश कुमार और प्रणव सिंह के बीच सोशल मीडिया पर युद्ध चल रहा है।

————————————————
मदन कौशिक के खिलाफ निशंक गुट का भीतरघात
वहीं प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के खिलाफ भी भाजपा का एक बडा गुट भीतरघात करने पर तुला हुआ था। इसमें निशंक गुट के कई बडे नेता थे तो मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का गुट भी मदन की जडें खोदने में लगा हुआ था। हालांकि मदन अपनी सीट बचाने में कामयाब हो गए लेकिन निशंक गुट के स्वामी यतीश्वरानंद, संजय गुप्ता और सुरेश राठौर की जमीन सरक गई।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!