कुंभ कार्यों की गुणवत्ता तार—तार, रात में बनाई सड़क सुबह तक उखड़ने लगी

रतनमणी डोभाल।
कुंभ कार्यों में गुणवत्ता बनाए रखने के चाहे जितने दावे किए जाते रहे लेकिन जमीनी हकीकत पर हालात सुधरते दिखाई नहीं दे रहे हैं। ताजा मामले में लोक निर्माण विभाग की सड़क का डामरीकरण है। भीमगोड़ा मार्ग पर रात में डाली गई सड़क सुबह होते—होते बिखरने लगती है। भीमगोडा रोड पर बृहस्पतिवार की रात में डामरीकरण किया गया। अब सड़क की हालत देखने लायक है। क्षेत्र निवासी एवं मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के शहर सचिव हरिश्चद्र का कहना है कि एक तो यह समय डामरीकरण की सड़क बनाने का नहीं है। बावजूद रात में सड़क बनाई जा रही है। पाला पड़ने तथा वाहन चलने से सड़क उखड़ जाती है। उन्होंने लगाया कि सड़क निर्माण में किसी भी मानक पालन नहीं किया जा रहा है केवल जनता के धन की बर्बादी की जा रही है। अपर रोड पर मनस देवी मार्ग पर रोप—वे के सामने की सड़क पूरी बिखर चुकी है। खड़खड़ी में जो पैचवर्क किया गया है वह भी बेकार हो गया है। लोगों को कहना है जब जनता के टैक्स के पैसे को लगाया जा रहा है तो गुणवत्ता को ध्यान क्यों नहीं रखा जा रहा है।

—————————————
पीडब्ल्यूडी के ठेकेदार के खिलाफ दी तहरीर
कुंभ योजना में बनाई जा रही सड़कों की गुणवत्ता तार—तार होने पर प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल ने लोक निर्माण विभाग के ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए शहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षण को तहरीर दी है। जिला महामंत्री संजय त्रिवाल ने आरोप लगाया कि हर की पैड़ी काली रोड, अपर रोड पर बैंक आफॅ बडौदा के पास मनसा देवी मार्ग पर रोप—वे के पास बनी डामरीकरण की सड़क पूरी तरह बिखर गई है और गड्ढों से ज्यादा खतरनाक हो गई है। स्कूटर व मोटर साइकिल वाले बिखरी बजरी पर रपट कर चोटिल हो रहे हैं। व्यापारी नेताओं का कहना कि सड़कों के घटिया निर्माण को लेकर उन्होंने लोक निर्माण विभाग की अवर अभियंता शिवानी से बात की है। जिसने उखड़ी सड़क को फिर से बनवाने का आश्वासन तो दिया। लेकिन घटिया निर्माण करा रहे ठेकेदार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए विभाग तैयार नहीं है इसलिए व्यापार मंडल की ओर से तहरीर दी गई है।

————————————

क्या कहते हैं अधिकारी
प्रांतीय खंड लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता प्रदीप कुमार ने बताया कि उन्होंने कई स्थानों का निरीक्षण किया है। साइड पर सड़क की बजरी निकली मिली हॅै।जिसको दोबारा बनया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अभी पैचवर्क कियाउ जा रहा है ताकि लोगों को आने जाने में दिक्कत न हो। फाइनल सड़क बनाने का काम अभी शुरू नहीं हो पाया है क्योंकि कई अन्य विभाग अभी खुदाई करने में लगे हैं।
———————————————
जनानाघाट का एक रास्ता ही बंद कर दिया है
नमामि गंगे योजना के विकास एवं सौंदर्यीकरण कार्य की स्थिति भी देखने लायक है। हर की पैड़ी जनाना घाट का एक रास्ता ही बंद कर दिया गया है। भीड़ होने पर स्थिति खराब हो सकती है। नमा​मि गंगे की कार्यदायी एजेंसी यूपीडीसीसी के अधिकारियों को क​हना है कि गंगा सभा के पदाधिकारी अपने हिसाब से काम कराने का दबाव डाल रहे हैं। इसी प्रकार हर की पैड़ी नाईघाट के नाले का निर्माण दुकड़ों में किया जा रहा है। नाले पर एक लेंटर डालने के बजाए कई लेंटर डालें जा रहे हैं। नाले से अतिक्रमण हटाने के बजाए नाला है ही टेडा—मेडा बनाया जा रहा है। नाईसोता नाले का अतिक्रमण 34 करोड़ रुपये के सुंदरीकरण पर धब्बा ​है उसके रहते सुंदरीकरण बेमतलब होकर रह गया है।
समाजसेवी रमेश चंद्र शर्मा ने बताया कि सत्तारूढ़ दल के लोग ही हर की पैड़ी क्षेत्र के सुंदरीकरण कार्य पर कालिस पोतने में लगे हुए हैं। कुंभ मेलाधिकारी रसूखदार लोगों के अतिक्रमण को देखते हुए भी आगे बढ़ जाते हैं। क्षेत्र में इतना अतिक्रमण है कि जरूरत पड़ने पर जहान्वी बाजार से एम्बुलेंस तथा फायर टेंडर भी नाई घाट पर नहीं आ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!