Congress mayor of haridwar anita sharma

हरिद्वार के हाल बेहाल, नगर निगम फर्जी फीडबैक कर शहर को बता रहा सबसे स्वच्छ

रतनमणी डोभाल।
हरिद्वार की सफाई व्यवस्था पटरी से उतरी हुई हैं। कंपनियों के साथ मिलकर करोड़ों खर्च करने के बाद भी शहर साफ नहीं हो पा रहा है। इधर, नगर निगम स्वच्छता सर्वेक्षण में हरिद्वार नगर निगम को अव्वल दर्जा दिलाने के लिए फर्जी तरीके से फीडबैक कर रहा है। आलम ये है कि इस बार नगर निगम ने अपनी पूरी टीम लगाकर फर्जी तरीके से फीडबैक सबसे ज्यादा करा दिया। इसमें हरिद्वार की सफाई व्यवस्था को बेहतर दिखाने का प्रयास किया गया। जबकि धरातल पर स्थिति अलग है। वहीं पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष और कांग्रेस नेता सतपाल ब्रह्मचारी ने फर्जी फीडबैक पर सवाल खडे किए हैं और आरोप लगाया कि अगर लोगों से फीडबैक लेना ही था तो ईमानदारी से उनकी राय ली जाती, तब नगर निगम के भी अपने सफाई व्यवस्था पता चल जाता।
गौरतलब है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के लिए नगर निकायों में कूडा प्रबंधन के बारे में जनता से फीडबैक लिया जाता है। कूडा प्रबंधन के लिए नगर निगम ने लाखों रुपए महीना खर्च कर दो कंपनी कासा ग्रीन और केएल मदान कंपनियों को हायर किया है। इन कंपनियों के सैंकडों कर्मचारी होने के अलावा नगर निगम के कर्मचारी और अन्य संसाधनों के बाद भी नगर निगम हरिद्वार की सफाई व्यवस्था को पटरी पर नहीं ला पाया है। वहीं फर्जी तरीके से फीडबैक कराकर हरिद्वार की गुलाबी तस्वीर पेश करने का काम नगर निगम हरिद्वार कर रहा है।

——————————————
गीला और सूखा कचरा अलग नहीं कर पाया निगम
नगर निगम ने कासा ग्रीन और केएल मदान कंपनी को मोटी रकम देने के बाद भी घर—घर से सूखा और गीला कचरा अलग करने का जतन नहीं कर पाया। कंपनियों की नाकामी छुपाने के लिए तीसरी कंपनी हायर की है जो सराय प्लांट में कचरे को अलग करती है। इसके भी नगर निगम अतिरिक्त पैसा चुका रहा है। ये सब हरिद्वार की जनता से वसूला जा रहा है।

———————————
यूजर चार्ज में भी घपला
नगर निगम कचरा उठाने के लिए हर घर और परिवार से 50 रुपए महीना लेता है जबकि दुकानदारों से अलग यूजर चार्ज लेता है। लेकिन आज तक नगर निगम ने ये नहीं बताया कि कितने लोगों से यूजर चार्ज कलेक्ट किया जा रहा है। समाजसेवी जेपी बडोनी ने बताया कि यूजर चार्ज में खेल किया जा रहा है। इसको सार्जजनिक किया जाना चाहिए। पैसा हर घर से लिया जा रहा है जबकि नगर निगम ये कहता रहता है कि यूजर चार्ज नहीं दिया जा रहा है।

————————————
क्या कहते हैं सतपाल ब्रह्मचारी
पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष सतपाल ब्रह्मचारी ने कहा कि नगर निगम अपनी जिम्मेदारी पूरी तरह से नहीं निभा पा रहा है। नगर ​निगम के पास तमाम संसाधन है लेकिन सफाई व्यवसथा का बुरा हाल है। उन्होंने कहा कि अपनी कमियों पर पर्दा डालने के लिए फर्जी फीडबैक कराया जा रहा है। इसकी जांच की जानी चाहिए।

खबरों को वाट्सएप पर पाने के लिए हमे मैसेज करें : 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!