woman police officer co niharika semwal caught cheating in police constable recruitment in haridwar uttarakhand

महिला अफसर जिन्होंने सिपाही भर्ती में धांधली होने से बचा ली, फिजिकल टेस्ट की ‘मुन्नी बहन’ भी पकड़ी गई

विकास कुमार/अतीक साबरी।
हरिद्वार पुलिस लाइन रोशनाबाद में चल रही महिला सिपाही भर्ती शारीरिक दक्षता परीक्षा में धांधली करने वाली सिपाही की पत्नी सीओ निहारिका सेमवाल की पारखी नजरों से नहीं बच पाई। सीओ निहारिका सेमवाल की मुस्तैदी और प्रेजेंस आफ माइंड का ही नतीजा है कि सिपाही भर्ती परीक्षा में फर्जीवाडा होने से बच गया। वहीं हरिद्वार में ही तैनात सिपाही की पत्नी अंजुम जायरा पत्नी असलम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर​ लिया गया है। जबकि सिपाही की पत्नी की जगह शारीरिक दक्षता परीक्षा के दौरान लंबी कूद लगाने वाली युवती काजल पुत्री राजेंद्र को भी पुलिस ने पकड लिया है। ये युवती भी पुलिस लाइन हरिद्वार की रहने वाली है और इसके पिता भी पुलिस में ही है। फिलहाल काजल के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। दोनों से पूछताछ की जा रही है। woman police officer co niharika semwal caught cheating in police constable recruitment in haridwar uttarakhand

—————————————————
सीओ निहारिका सेमवाल को कैसे शक हुआ
असल में हरिद्वार के रोशनाबाद स्थित 40 वाहिनी पीएसी व एटीसी हरिद्वार एवं पुलिस लाइन में पुलिस फायरमैन महिला आरक्षी भर्ती प्रक्रिया चल रही है। जिसमें पुलिस लाइन रोशनाबाद में एक महिला अभ्यर्थी अंजुम जायरा ने बॉल थ्रो के पश्चात लंबी कूद (लॉन्ग जंप) में अन्य अभ्यर्थियों की तरह मिले 3 प्रयासों में से शुरू के 2 प्रयासों में अपने स्थान पर किसी अन्य महिला से जंप करवा दिया और तीसरी/आखिरी बारी में धीरे से स्वयं लॉन्ग जंप के लिए लाइन में खड़ी हो गई।
लॉन्ग जंप की प्रक्रिया की प्रभारी सीओ निहारिका सेमवाल को जैसे ही इस बात का पता चला उन्होंने “स्थिति साफ न होने तक”, आगे की प्रक्रिया रोकने का ठोस निर्णय लेते हुए तुरंत आला अफसरों को बताया। जांच की तो कई बातें चौंकाने वाली सामने आ गई। इसके बाद सिडकुल पुलिस को बुलाया गया और सिपाही की पत्नी पुलिस के हवाले कर दिया गया है। जहां मुकदमा दर्ज कर पूछताछ के बाद छोड दिया गया। वहीं सिपाही असलम को भी निलंबित कर दिया गया।

भर्ती के दौरान छलांग लगाती एक महिला अभ्यर्थी

——————————————
काजल ने दोस्ती के कारण की अंजुम जायरा की मदद
वहीं जांच में अभी तक ये बात सामने आई है कि काजल और अंजुम दोनों एक दूसरे के परिचित थे। लांग जंप में फायदा पहुंचाने के लिए ही काजल ने अंजुम की जगह दो बार कूद लगा दी थी। सब कुछ ठीक हो रहा था लेकिन अचानक सीओ निहारिका सेमवाल की पारखी नजरों ने काजल और अंजुम के खेल को बेनकाब कर दिया। अब ये भी जांच की जा रही है कि सिपाही असलम का क्या रोल इसमें था।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!