Breaking News Dehradun Government Schemes Latest News Uttarakhand

अच्छे दिन : देहरादून को इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर की सौगात, ये सब भी होंगे काम

ब्यूरो।
मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत कुल 575 करोड़ 18 लाख रूपए के कार्यों का शिलान्यास किया। इनमें दून लाईब्रेरी लागत 12 करोड़ 33 लाख, पलटन बाजार विकास लागत 13 करोड़ 10 लाख, वर्षा जल निकासी लागत 16 करोड़ 27 लाख, परेड़ ग्राउन्ड जीर्णोद्धार लागत 20 करोड़ 85 लाख, सीवरेज लागत 28 करोड़ 41 लाख, पेयजल संवर्धन व वाटर मीटरिंग लागत 32 करोड़ 59 लाख, स्मार्ट वाटर मैनेजमेंट लागत 56 करोड़ 63 लाख, स्मार्ट रोड लागत 190 करोड़ 54 लाख, इंटीग्रेटेड ऑिॅफस काम्प्लैक्स ग्रीन बिल्डिंग लागत 204 करोड़ 46 लाख के काम शामिल हैं।

————————————————
तकनीक से होगी स्मार्ट सिटी की परिकल्पना साकार
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि तकनीक के बिना स्मार्ट सिटी की परिकल्पना नहीं की जा सकती है। सरकार, तकनीक के माध्यम से जनसुविधाओं में सुधार करने की कोशिश कर रही है। स्मार्ट दून के लिए पिछले कुछ समय में बहुत तेजी से काम हुआ है। आने वाले समय में बदला हुआ दून दिखेगा। स्मार्ट दून की तरफ आगे बढ़ने में दून वासियों का भी पूरा सहयोग मिल रहा है।

——————————————————
देहरादून में बनेगा इंटीग्रेटेड कन्ट्रोल एंड कमांड सेंटर
मुख्यमंत्री ने देहरादून में इंटीग्रेटेड कन्ट्रोल एंड कमांड सेंटर की घोषणा करते हुए कहा कि इसका नाम ‘सदैव दून’ होगा और 25 दिसम्बर को पूर्व प्रधानमंत्री स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी के जन्मदिन जिसे गुड गवर्नेंस दिवस के तौर पर मनाया जाता है, पर इसका शुभारम्भ किया जाएगा।

———————————————————
प्रमुख मार्गो पर होगी अंडरग्राउन्ड केबलिंग
मुख्यमंत्री ने कहा कि देहरादून के प्रमुख मार्गों पर अंडरग्राउन्ड केबलिंग की जाएगी। इसका टेंडर जल्द ही कर दिया जाएगा। सरकारी भवनों पर सौर ऊर्जा का काम शुरू हो चुका है। धीरे-धीरे हम ग्रीन एनर्जी की ओर बढ़ रहे हैं। स्मार्ट सिटी के साथ ही स्मार्ट विलेज की सोच भी बनानी होगी। प्रदेश के चयनित राजकीय विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की सुविधा प्रारम्भ की गई है।

—————————————————————
दूनवासियों का मिल रहा सहयोग
नगर विकास मंत्री श्री मदन कौशिक ने कहा कि जब कोई काम किया जाता है तो उसकी समालोचना होती है। परंतु लोगों का सहयोग भी मिलता है। दून में अतिक्रमण हटाने के लिए लोग स्वयं आगे आए। शहरी क्षेत्र में देश में तेजी से काम हो रहा है। हम भी यथासम्भव प्रयास कर रहे हैं। वेस्ट टू एनर्जी के कन्सेप्ट पर आगे बढ़े हैं। इसका परिणाम भी जल्दी ही देखने को मिलेगा।

——————————————————
दून की बनेगी अलग पहचान
देहरादून नगर निगम के मेयर श्री सुनील उनियाल गामा ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन में बड़े विस्तार पर काम किया जाना है। शहरवासियों को शुरू में कुछ असुविधा हो सकती हैं। परंतु जब काम पूरा हो जाएगा तो इससे सुविधा होगी। इससे दून की अलग पहचान बनेगी। सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति में देहरादून में काफी प्रगति हुई है।

———————————————————————
देहरादून मोस्ट प्रोग्रेसिव स्मार्ट सिटी
देहरादून स्मार्ट सिटी लि. के अध्यक्ष श्री रविनाथ रमन ने बताया कि स्मार्ट सिटी में देहरादून का चयन तीसरे चरण में किया गया था। दिसम्बर 2018 में 100 शहरों में से देहरादून की रैंकिंग 99 थी जो कि केवल 10 माह बाद ही 30 हो गई है। देहरादून को स्मार्ट सिटी में मोस्ट प्राग्रेसिव सिटी में पहला स्थान मिला है। सीईओ श्री आशीष श्रीवास्तव ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए स्मार्ट सिटी में संचालित कार्यों की जानकारी दी।

———————————————————
शिक्षण संस्थानों, रेजीडेंस वेलफेयर सोसायटियों, संस्थाओं, पार्षदों को किया सम्मानित
इस अवसर पर प्लास्टिक वापसी अभियान में सराहनीय काम करने के लिए राजकीय प्राथमिक विद्यालय, दिलाराम बाजार, जीआईसी खुड़बुड़ा, बालिका शिक्षा सदन जूनियर हाई स्कूल आनंद चौक को पुरस्कृत किया गया। इसी प्रकार छात्राओं कुमारी सलोनी, रोजी व नेहा को भी सम्मानित किया गया। स्वच्छ कॉलोनी वर्ग में केवल विहार व सिद्वार्थ पैराडाईज अपार्टमेंट पंडितवाड़ी को पुरस्कृत किया गया। महत्वपूर्ण सहयोग के लिए डा. महेश भण्डारी, गति फाउंडेशन के श्री अनूप नौटियाल, पार्षद श्रीमती अमिता गर्ग व श्री वीजेन्द्रपाल सिंह को भी सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर विधायक हरबंस कपूर, विनोद चमोली, मुन्ना सिंह चौहान, खजानदास,सहदेव सिंह पुण्डीर, राज्य अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष डा.आर.के.जैन, विनय गोयल, सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी व गणमान्य आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.