22 मुगल बादशाहों ने की 85 शादियां

— करीब सौ से अधिक बांदियां भी रखी
— 36 राजपूत राजकुमारियों से भी किया निकाह
news129.com ब्यूरो।
मुगल बादशाहों ने करीब तीन सौ सालों तक हिंदुस्तान पर राज किया। मुगल बादशाह कुशल योद्धा और कला प्रेमी होने के साथ—साथ अपनी रंगीन मिजाजी के कारण भी खूब जाने जाते हैं। बादशाह औरंगजेब को छोड़ दे तो अधिकतर मुगल बादशाहों ने कई निकाह किए और इसके अलावा कई बादियां यानी गुलाम भी अपने हरम में रखी। मुगलिया सल्तनत की नींव रखने वाले बाबर से लेकर आखिरी बादहशा बहादुर शाह जफर तक कुल 22 बादशाहों ने करीब 85 निकाह किए। इसके अलावा करीब सौ से ​अधिक बादियां भी रखी। इतना ही नहीं करीब 36 राजपूत राजकुमारियों को मुगल बादशाहों ने अपना शरीक—ए—हयात बनाया। राजपूूत राजकुमारियों से शादी करने वालों में जहांगीर सबसे ज्यादा आगे हैं। जहांगीर ने 17 राजपूत राजकुमारियों से ब्याह रचाया। इनमें से कुछ से हिंदू रीति रिवाज से शादी हुई तो कुछ ने निकाह किया। दूसरे नंबर पर जहांगीर के वालिद साहब यानी पिता अकबर हैं, जिन्होंने 12 राजपूत राजकुमारियों से शादी की। इन 22 बादशाहों ने अपने जीवन काल में कुल 244 बच्चों को पैदा किया। आइये जानते हैं किस बादशाह ने कितनी शादियां की,  आप ये खबर www.news129.com पर पढ़ रहे हैं

जहरीरूद्दीन मोहम्मद बाबर ने आठ शादियां की थी, जबकि हुमायूं ने सात निकाह किए। इसके बाद सिंहासन पर बैठे अकबर ने 30 शादियां की। जबकि अकबर के बाद जहांगीर ने भी 30 बार निकाह किया। इसके अलावा शाहजहां ने छह शादियां की, इनमें दो राजपूत राजकुमारी भी शामिल थी। औरंगजेब ने तीन, मौहम्मद अजम शाह ने सात, शाह आलम प्रथम ने आठ, मोहम्मद जहांदार शाह ने सात, अकबर द्वितीय ने पांच, मौहम्मद रफी एक, मौहम्मद शाहजहां द्वितीय, ये बादशाह कुंवारा ही मरा था, मौहम्मद इब्राहिम के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिलती, क्योंकि ये बहुत थोडे समय के लिए गद्दी पर बैठे। मौहम्मद शाह ने चार, मौहम्मद अहमद शाह ने पांच, मौहम्मद आलमगीर द्वितीय ने आठ, शाह आलम द्वितीय छह शादियां की, मौहम्मद अकबर शाह पांच शादियां और सबसे आखिरी में मुहम्मद बहादुर शाह जफर ने आठ शादियां की। जबकि इन दोनों की कई बादियां भी थी। सबसे ज्यादा बच्चे शाह आलम द्वितीय और बहादुर शाह जफर के थे। इन दोनों ने मिलकर करीब सौ बच्चे पैदा कर दिए थे।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!