नवजात की मौत पर परिजनों का हंगामा, निजी अस्पताल पर लगाए गंभीर आरोप

विकास कुमार।

ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र के एक प्राइवेट अस्पताल में डिलीवरी के दौरान नवजात शिशु की मौत हो गई, नवजात शिशु की मौत होने पर परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा काटा हंगामा की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई और हंगामे को शांत कराया वही हंगामे का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

आरोप है कि चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से न केवल नवजात की मौत हुई बल्कि अस्पताल प्रबंधन ने उनसे मनमाना पैसा भी जमा करवा दिया और मृत बच्चे को हायर सेंटर रेफर कर दिया इस मामले में पुलिस का कहना है कि उन्हें फिलहाल कोई शिकायत नहीं मिली है यदि कोई शिकायत आती है तो उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
मिली जानकारी के अनुसार 2 दिन पूर्व खड़खड़ी क्षेत्र में रहने वाली एक महिला को डिलीवरी के लिए न्यू हरिद्वार स्थित न्यू देवभूमि अस्पताल में भर्ती कराया गया था बताया जा रहा है की सोमवार सुबह डिलीवरी के बाद से बच्चे को परिजनों को नहीं दिखाया गया था डिलीवरी के एवज में अस्पताल प्रबंधन द्वारा परिजनों से पैसा पहले ही जमा करा दिया गया था सोमवार देर रात अस्पताल प्रबंधन द्वारा बताया गया कि बच्चे की हालत नाजुक है अतः इसे हायर सेंटर रेफर किया जा रहा है आनन-फानन में प्रबंधन द्वारा एंबुलेंस बुलाकर बच्चे को परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया हायर सेंटर तक जाने के लिए एक अटेंडेंट भी परिजनों को दिया गया लेकिन बताया जा रहा है कि एंबुलेंस अभी अस्पताल से कुछ ही दूर पर पहुंची थी कि परिजनों को समझ आ गया कि बच्चे की मौत हो गई है जिसके बाद परिजन तत्काल वापस देवभूमि अस्पताल पहुंचे और जमकर हंगामा किया हंगामे की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची मोहल्ले में रहने वाले लोगों द्वारा इस पूरे घटना की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी गई है हालांकि कोतवाली ज्वालापुर पुलिस का कहना है कि इस मामले में फिलहाल कोई तहरीर किसी की ओर से नहीं आई है यदि तहरीर आती है तो इसमें आगे की कार्रवाई की जाएगी आपको बता दें कि इस अस्पताल में हंगामे का यह कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले भी कई बार यहां पर उपचार को लेकर हंगामा हो चुके हैं लेकिन बावजूद इसके अस्पताल प्रबंधन अपनी व्यवस्थाएं सुधारने को तैयार नहीं है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!