what think about muslim leaders about bsp muslim candidate

बसपा के मुस्लिम प्रत्याशी का हरिद्वार ग्रामीण पर क्या असर हो सकता है, बता रहे हैं मुस्लिम नेता

विकास कुमार।
हरिद्वार ग्रामीण सीट पर हरीश रावत की बेटी अनुपमा रावत के सामने बसपा के मुस्लिम चेहरे हाजी युनूस अंसारी चुनाव मैदान में हैं। एन वक्त पर बदले बसपा प्रत्याशी को हरीश रावत से लेकर दूसरे नेता साजिश बता चुके हैं और इसे भाजपा की डील बता रहे हैं। वहीं हरीश रावत के जुमे की छुट्टी, मुस्लिम यूनिवर्सिटी वाली कंट्रोवर्सी का असर हरिद्वार ग्रामीण पर भी देखने को मिल रहा है। दोनों ही मुद्दों पर हमने हरिद्वार ग्रामीण के मुस्लिम नेताओं से बात करने की और जानना चाहा कि वो इन मुद्दों को लेकर क्या सोचते हैं।

—————————————————
बसपा नहीं डालेगी कोई असर
बसपा से कांग्रेस में आए सीनियर नेता मुकर्रम अंसारी मानते हैं कि साल 2017 और 2022 के चुनाव में बहुत अंतर हैं। 2017 में मेरा टिकट बहुत पहले हो गया था और मेरे साथ बडी टीम थी। तब से लेकर बसपा अब बहुत कमजोर हुई है। बसपा ने इस बार पहले ही दर्शन लाल शर्मा का टिकट कर दिया था लेकिन एन वक्त पर युनूस अंसारी साहब का टिकट किया गया। एन वक्त पर हुए टिकट को लेकर मुस्लिम मतदाताओं में बहुत ज्यादा उत्साह हैं मुझे ऐसा नहीं लगता है। हम बहुत मेहनत कर रहे हैं और हमें उम्मीद है कि मुस्लिम मतदाताओं का अधिकतम हिस्सा कांग्रेस के पास आने जा रहा है।
वही कांग्रेस के सीनियर नेता नसीम अंसारी ने कहा कि हम शुरु से ही कांग्रेस से जुडे हैं और कांग्रेस के लिए ही काम करते रहेंगे। मुझे नहीं लगता कि बसपा का कोई प्रभाव क्षेत्र में इस चुनाव में देखने को मिलेगा। वहीं बसपा से ही कांग्रेस में शामिल हुए और 2012 में कांग्रेस से चुनाव लड चुके सीनियर मुस्लिम नेता इरशाद अंसारी ने बताया कि जब हम बसपा से टिकट मांग रहे थे तब उन्होंने हमें टिकट नहीं दिया। कांग्रेस से अनुपमा रावत का टिकट होते ही टिकट बदल दिया गया। इससे साफ है कि बसपा वोटों का धुव्रीकरण करने का प्रयास कर रही है। लेकिन हरिद्वार ग्रामीण की जनता जानती है कि इस बार वोट किसे देना है और कौन उनके हकों के लिए लड सकता है।

—————————————
बसपा कर रही है जीतोड प्रयास
वहीं बसपा के युनूस अंसारी लगातार जनसंपर्क कर लोगों से वोट की अपील कर रहे हैं और दलित व मुस्लिम समाज में वोट मांग रहे हैं। वरिष्ठ पत्रकार रतनमणी डोभाल बताते हैं कि बसपा हरिद्वार ग्रामीण पर एक अहम फेक्टर साबित होगा। अगर बसपा ने ज्यादा नुकसान पहुंचाया तो परिणाम प्रभावित हो सकते हैं। हालांकि, पहले जितना आसान चुनाव समझा जा रहा था अब वैसी स्थिति नहीं है। हरिद्वार ग्रामीण पर अनुपमा रावत बहुत अच्छा चुनाव लड रही है और इससे लगता है कि चुनावी मुकाबला कांटे का बनता जा रहा है।

खबरों को वाट्सएप पर पाने के लिए हमे मैसेज करें : 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!