sex racket busted

उत्तराखण्ड: लीज रेंट चुकाने के लिए होटल में चलाता था सेक्स रैकेट, पांच युवतियों सहित 10 पकड़े

हरीश कुमार।
लॉकडाउन में काम धंधा चौपट होने और लीट रेंट का किराया ना चुका पाने से परेशान होटल संचालक ने होटल में जिस्मफरोशी का धंधा शुरु कर दिया। पुलिस ने होटल में रेड मार कर छह युवतियों सहित 13 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं होटल से आपत्तिजनक सामान भी बरामद किया गया है। पकडी गई लडकियांं नेपाल और पश्चिम बंगाल की रहने वाली बताई जा रही हैं जबकि पकडे गए युवक स्थानीय हैं। सभी का चालान कर दिया गया है। हालांकि अभी ये साफ नहीं है कि लडकियों से जबरदस्ती जिस्मफरोशी कराई जा रही थी या फिर वो खुद मर्जी से इस धंधे में शामिल थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

:::::::::::::::
होटल संचालक ने बताया कैसे चलाता था नेटवर्क
सेक्स रैकैट का खुलासा करते हुए एसएसपी उधम सिंह नगर दलीप सिंह कुंवर ने बताया किरुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र में जनता इंटर कॉलेज के पास बने होटल नैनी व्यू गेस्ट हाउस के संचालक विनोद गंगवार के सेक्स रैकेट चलाने की सूचना मिली थी। इसके बाद पुलिस ने रेड की और मौके से लडकियों और युवकों को रंगे हाथों दबोच लिया। लडकियां और लडके कमरे में अर्धनग्न अवस्था में मिले। वहीं होटल के कमरे से आपत्तिजनक सामान भी बरामद हुआ है। विनोद गंगवार ने बताया कि होटल का लीज रेंट चुकाने के लिए उसने जिस्मफरोशी का धंधा शुरु किया और ग्राहक व लडकियां लाने के लिए उसके दोस्त शबाब, आमिर खान व आकाश रावत सहयोग करते थे।

::::::::::::::::
एक हजार रुपए में से आधे होटल संचालक रखता था
वहीं लडकियों को जिस्मफरोशी के लिए नेपाल व पंश्चिम बंगाल से लाया गया था। सभी की उम्र बीस से तीस साल के बीच बताई जा रही है। प्रत्येक ग्राहक से एक हजार से दो हजार रुपए लिए जाते थे जबकि लडकियों को पांच सौ रुपए दिए जाते थे। इनके खिलाफ अनैतिक देह व्यापार की​ धारा 3/4/5/6 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

read this also — उत्तराखण्ड: कोरोना कर्फ्यू 15 जून तक बढाया गया, किन—किन को दी गई है छूट, पढिए आसान शब्दों में

बेटी पिता को हौंसला देती रही लेकिन अस्पताल स्टॉफ ने ऐसा किया कि पिता की हिम्मत टूट गई

दिल्ली के युवकों को थमाई फ़र्ज़ी कोरोना रिपोर्ट, युवती सहित दो गिरफ्तार

खबरों को व्हट्सएप पर पाने के लिए मैसेज करें : 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!