फर्ज़ीवाड़ा: पीएनबी के बैंक मैनेजर, लोन अधिकारी के खिलाफ सहित तीन पर मुकदमा, हरिद्वार का मामला

ऐ-के-साबरी:-
पिरान कलियर।
एक किसान की भूमि के फर्जी दस्तावेज तैयार कर पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारियों के साथ मिलकर फर्जी तरीके से लोन लेने के आरोप में न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने बैंक के तत्कालीन प्रबधक समेत तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सिडकुल थाना क्षेत्र के सलेमपुर महदूद निवासी समय सिंह ने न्यायालय में वाद दायर कर बताया था कि मोहम्मदपुर पांडा निवासी राजकुमार ने उसकी भूमि के फर्जी दस्तावेज तैयार किए ओर पंजाब नेशनल बैक ईमली खेडा शाखा के तत्कालीन प्रबधक और लोन अधिकारी के साथ मिलकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर उसकी भूमि को अपनी बताकर बैंक में बंधक पत्र देकर मोहम्मदपुर पांडा गांव की उसकी भूमि पर 22 अप्रेल 2015 को 2 लाख 28000 हजार और 26 नम्बर 2015 को 1 लाख लोन ले लिया है।पीड़ित को इसकी जानकारी 22 फरवरी 2022 को मिली।जानकारी होने पर तत्काल वह ईमली खेडा में पंजाब नेशनल बैंक की शाखा में पहुचा और अधिकारी से जानकारी की बैंक अधिकारियों ने कोई संतोषजनक जवाब नही दिया।पीड़ित ने कलियर पुलिस से भी इसकी कई बार शिकायत कर क़ानून करवाई की मांग की। लेकिन पुलिस ने उसकी कोई मदद नही की।पीड़ित ने न्यायालय में वाद दायर कर आरोपियों के खिलाफ कानूनी करवाई की मांग की है।पुलिस ने न्यायालय के आदेश पर तीन लोगों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।थानाध्यक्ष मनोहर सिंह भंड़ारी ने बताया न्यायालय के आदेश पर राजकुमार निवासी मोहम्मदपुर पांडा और तत्कालीन बैंक प्रबध व लोन अधिकारी पजांब नेशनल बैंक शाखा ईमलीखेडा के खिलाफ आपराधिक सडयंत्र रचकर, धोखाधड़ी कर भूमि के फर्जी दस्तावेज तैयार करने समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!