mantri madan kaushik meeting with officers
Breaking News Haridwar Latest News Uttarakhand

टूटी सडकों पर टूटी शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की नींद, अफसरों की ली क्लास

ब्यूरो।
हरिद्वार की खस्ताहाल सडकों को लेकर आखिरकार शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने विभागीय अधिकारियों की क्लास ले ली। हरिद्वार के सीसीआर टॉवर में आयोजित बैठक में शहरी विकास मंत्री ने अधिकारियों को आखिरी चेतावनी देते हुए कार्रवाई की बात भी कही। साथ ही विभागों को तालमेल से काम करने की हिदायत दी।
शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने सड़कों की खुदाई कर बिछायी जा रही पेयजल, विद्युत तथा सीवेज लाइनों का कार्य कर रहे विभागों को कार्य के दौरान सड़क और साथ ही अन्य आपूर्ति पाइप लाइनों को क्षति पहंुचा कर कार्य करने पर कड़ी नराजगी जतायी। उन्होंने तीनों विभागों को आपसी समन्वय करते हुए काॅलोनी बस्तियों में कार्य करने को कहा। उन्होंने कहा किसी भी विभाग की वजह से दूसरी आपूर्ति बाधित होती है या आमजन को कोई परेशानी होती है तो उसकी जिम्मेदारी क्षति पहुंचा रहे विभाग की होगी। पहंचायी गयी क्षति की भरपाई और सुधार का कार्य भी उसी विभाग को करना होगा जिसकी वजह से अन्य आपूर्ति सेवा बाधित हुई होगी। यदि विभाग अपनी जिम्मेदारी तय नहीं करता और सड़क व तोड़ी गयी आपूर्ति सेवा को सुचारू नहीं करता तो उसके विरूद्ध सिटी मजिस्ट्रेट द्वारा कार्रवाई अमल में लायी जायेगी। किसी भी लाइन को बिछाये जाने के दौरान खुदाई, पाइप लाइन बिछाये जाने में तय समय सीमा से एक दिन भी अधिक होने पर खुली पड़ी सड़क आपूर्ति क्षतिग्रस्त लाइनों को सुचारू न किये जाने पर प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना लगाया जायेगा।
दिसम्बर 2020 तक सम्पूर्ण सड़को के किसी भी प्रकार के खुदाई कार्यो को सम्पन्न कर सड़क निर्माण करा दिया जाये। कार्यो को कुम्भ क्षेत्र में प्राथमिकता के आधार पर पहले पूर्ण कर लिया जाये। इसके बाद अन्य क्षेत्रों में कार्य किया जाये।
जल निगम, जल संस्थान, विद्युत विभाग आपसी समन्वय कर पुर्ननिर्माण के लिए फर्म के साथ एडवांस टेंडर करने के बाद ही खुदाई का कार्य प्रारम्भ करें। जिससे खुदाई होने और कार्य पूर्ण होते ही तत्काल उस सड़क और आपूर्ति लाइनों को अनुरक्षण किया जा सके।
पेयजल, जल संस्थान, विद्युत विभाग के उच्च अधिकारी किसी प्रकार के नुकसान पर संज्ञान लेते हुए किये गये नुकसान पर किसी भी प्रकार की क्षतिपूर्ति, निर्माण आदि की भरपाई के लिए जिले स्तर के अधिकारियों को पावर दें। विद्युत विभाग विभाग सुनिश्चि करे कि विद्युत लाइनों को अंडर ग्राउंड करने में प्रयोग किया जाने वाला कोई भी एलटी पोल पुराना नहीं लगाया जाये।
बैठक में एसडीएम हरिद्वार श्रीमती कुश्म चैहान सहित सम्बधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

One Reply to “टूटी सडकों पर टूटी शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की नींद, अफसरों की ली क्लास

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.