pal samaj dharmshala established in haridwar

पाल समाज धर्मार्थ ट्रस्ट ने हरिद्वार में स्थापित की पाल धर्मशाला

ब्यूरो।
उत्तराखंड हाई कोर्ट के न्यायाधीश लोकपाल सिंह हरिद्वार पहुँचे जहाँ उन्होंने पाल समाज द्वारा स्थापित की गई पाल धर्मशाला के उद्घाटन समारोह में शिरकत की। हरिद्वार के भूपतवाला में आयोजित कार्यक्रम में लोकपाल सिंह का भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान न्यायाधीश लोकपाल सिंह ने कहा कि पाल समाज के लिए हरिद्वार में अपनी धर्मशाला की स्थापना होना पाल समाज के लिए बड़ा कार्य किया है, इसके बनने से हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को फायदा होगा। वही उन्होंने पाल समाज धर्मार्थ ट्रस्ट के पदाधिकारियो से अपील की वो धर्मशाला के साथ ही स्कूल खोलने का कार्य भी शुरू करे ताकि समाज के बच्चे उन स्कूलों में पढ़ लिखकर आगे बढ़े ताकि वो भी देश के विकास में योगदान दे।
कार्यक्रम में देश के कई राज्यो से आये पाल समाज के लोगो ने शिरकत की। पाल समाज धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा हरिद्वार में ये पहली पाल समाज की धर्मशाला है। ट्रस्ट के अध्यक्ष अतर सिंह पाल ने बताया कि इतना बड़ा काम अकेले करना उनके लिए मुश्किल था, इसके लिए सबसे पहले उन्होंने पाल समाज के लोगो से संपर्क साधा। देश के अलग अलग राज्यों के 100 लोगो ने धनराशि जमा करके इसके निर्माण की शुरुआत की। धीरे धीरे समाज के लोगो का सहयोग उन्हें मिलता रहा और आज ये धर्मशाला का विधिवत उद्घाटन होने के साथ ही उनका सपना साकार हो गया।
कार्यक्रम में देश के कई राज्यों आय लोगो बढ़कर कर हिस्सा लिया। इस मौके पर पाल समाज धर्मार्थ ट्रस्ट के महासचिव मंगत राम, कोषाध्यक्ष नेपाल सिंह, उत्तराखंड पाल महासभा के उपाध्यक्ष विजय सिंह पाल, बिजनौर पाल महासभा के अध्यक्ष नैन सिंह पाल, अनिल पाल, अनुज पाल, मनोज पाल समेत कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री एचएम रमन्ना, तेलंगाना राज्य के एमएलसी यज्ञ मलेशम, कनक पीठाधीश्वर जगतगुरु सिद्धा रामानंद पूरी आदि मौजूद लोग मौजूद रहे।

2 thoughts on “पाल समाज धर्मार्थ ट्रस्ट ने हरिद्वार में स्थापित की पाल धर्मशाला

  1. It’s a big thing for the visitors who goes haridwar for ganga darshan but you have not give your phone no, one can easily contact to thr dharmashala

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!