कलियर मेले में भ्रष्टाचार: होगी कड़ी कार्रवाई, शम्स के साथ शहज़ाद, सरवत ने लिया कलियर का जायज़ा

अतीक साबरी:-
पिरान कलियर। दरगाह साबिर पाक के सालाना उर्स की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्ष शादाब शम्स,लक्सर विधायक एव वक़्फ़ बोर्ड़ सदस्य मोहम्मद शहजाद, मंगलोर विधायक सरवत करीम अंसारी ने दरगाह में लेगे सीसीटीवी कैमरों के कंट्रोल रूम ओर उर्स से सम्बंधित कार्यो का निरीक्षण किया।इस दौरान वक़्फ़ बोर्ड अध्यक्ष शादाब शम्स ने कहा कि उर्स में भ्रष्टाचार होने की जानकारी मिल रही है।और जो लोग भ्रष्टाचार में लिप्त है उनको बक्सा नही जाएगा।अभी वक्फ बोर्ड के पास दरगाह का कार्यभार नही है।उच्च न्यायालय निर्देश पर जिलाधिकारी को प्रशासक नियुक्त किया गया है।सभी कार्यो की रिपोर्ट तैयार कर शासन को भेजी जाएगी। और सबंधित अधिकारियों के खिलाफ करवाई की जाएगी।विधायक मोहम्मद शहजाद ने कहा कि दरगाह में लगे सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल रूम थाने में क्यो बनाया गया। जबकि कन्ट्रोल रूम भी दरगाह में होना चाहिए।और पर दरगाह ऑफिस में दरगाह प्रबधक भी उपस्थित नही है।जवाब देने के कारण जानबूझकर अधिकारी बच रहे।और कुछ बाहरी लोग दरगाह में खड़े होकर खिदमत के नाम पर जायरीनों से वसूली कर रहे है।इस सबके साथ दरगाह कर्मचारियों की मिली भगत से भ्रष्टाचार हो रहा हैं।उर्स/मेले की अव्यवस्था के बारे में सदन में उठाने का काम करेंगे और जिलाधिकारी हरिद्वार व वक़्फ़ बोर्ड़ सीईओ से भी जवाब मांगा जाएगा।विधायक सरवत करीम अंसारी ने लंगर में बनने वाले राशन की गुणवत्ता में सवाल उठाया है।और कहा कि दरगाह प्रबंधन ने दुकाने अपने चाहतो को आवंटित की हैं।झूला सर्कस के ठेका 2018 में करीब 30 लाख में रुपये में दिया गया था।लेकिन इस बार करीब 21 लाख रुपये में दिया गया है।पीडब्ल्यूडी द्वारा किए गए कार्यो पर सवाल खड़े किए हैं उन्होंने कहा की साबरी गेस्ट हाउस की मरमत ओर पुताई के कार्ये में दरगाह का लाखो रूपया खर्च किया जा रहा है।और कार्यो में खानापूर्ति कर आवंटित बजट को ठिकाने लगाने का काम हो रहा है।उन्होंने कहा कि हम यहां के पैसे को ठिकाने लगाने नही देगे।और अगर हमारी बातों को नही माना जाता है तो हम वक़्फ़ बोर्ड की सदस्यता से भी इस्तफ़ा दे देंगे।

Share News
error: Content is protected !!