Rape

सिक्योरिटी गार्ड ने इश्क के जाल में फंसाकर महिला पत्रकार से किया रेप, एक नहीं कई बार खाया धोखा

कुणाल दरगन।
देहरादून के एक निजी अस्पताल में बतौर सिक्योरिटी गार्ड काम करने वाले एक युवक पर बिजनौर जनपद की महिला पत्रकार के साथ दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। नगर कोतवाली पुलिस ने महिला की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। वहीं, आरोपी कर्मचारी इन दिनों हरिद्वार में तैनात है। खास बात ये है कि महिला पत्रकार की शिकायत के बाद आरोपी जेल भी जा चुका था, लेकिन बाहर आने के बाद फिर से महिला पत्रकार को झांसे में लेकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया।
बिजनौर के नजीबाबाद क्षेत्र की रहने वाली युवती पेशे से पत्रकार है। पिछले साल उसकी मुलाकात देहरादून के एक नामी हॉस्पिटल में सिक्योरटी गार्ड की नौकरी कर रहे अरविंद चौहान निवासी बाढ़ो बधाऊ गड़ो, चकराता देहरादून से हुई थी। बातचीत के बाद प्रेम प्रसंग होने पर अरविंद ने शादी का झांसा देकर हरिद्वार, ऋषिकेश, नरेंद्र नगर के अलग-अलग होटलों में ले जाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। उसके बाद में शादी से इनकार कर दिया। युवती ने अरविंद चौहान के खिलाफ मुनिकी रेती थाने में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था।
अरविंद ने युवती के खिलाफ मोबाइल चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जेल से छूटने के बाद अरविंद के एक दोस्त नेत्रपाल ने दोनों को हरिद्वार बुलाया। माफी मांगने पर दोनों के बीच सुलह हो गई। आरोप है कि यहां अरविंद उसे एक होटल में ले गया और फिर से उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में शादी से मना कर दिया। युवती ने मुनिकी रेती थाने पहुंचकर आपबीती बताई। तब पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला हरिद्वार भेज दिया। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। जल्द ही पीड़िता के बयान लेकर जांच आगे बढ़ाई जाएगी।

हरिद्वार में तैनात है आरोपी
युवती को दो बार झांसा देने का आरोपी इन दिनों जल संस्थान हरिद्वार की सीवर इकाई में संविदाकर्मी के तौर पर कार्यरत है। युवती ने अपनी शिकायत में इस बात का जिक्र किया है। युवती का कहना है कि आरोपित ने साजिश के तहत दूसरी बार उसके साथ धोखा किया है। सुलह कराने के नाम पर दोनों को मिलवाने वाले उसके दोस्त की भूमिका भी संदेह के दायरे में है।

—————
पुजारी ने श्रद्धालु को पीटा, हुई कार्रवाई
कुणाल दरगन।
हरकी पैड़ी क्षेत्र में एक मंदिर के बाहर जूते-चप्पल रखने को लेकर पुजारी और श्रद्धालुओं के बीच झगड़ा हो गया। आरोप है कि पुजारी ने श्रद्धालु की पिटाई कर दी। हंगामा होने पर पुलिस मौके पर पहुंची और पुजारी को पकड़कर कोतवाली ले आई। शांतिभंग में उसका चालान कर दिया गया। पुलिस के मुताबिक सोमवार देर शाम कुछ श्रद्धालु गंगा दर्शन के लिए हरकी पैड़ी आए थे। उसी दौरान अपर रोड पर स्थित हनुमान मंदिर के बाहर वह अपने जूते-चप्पल रखने लगे। पुजारी गणेश दास जूते-चप्पल रखने का विरोध किया। इसी बात को लेकर उनके बीच कहासुनी हो गई। आरोप है कि पुजारी गणेश दास ने श्रद्धालुओं की पिटाई कर दी। जिससे हंगामा हो गया। सूचना पर हरकी पैड़ी चौकी प्रभारी अरविंद रतूड़ी ने उपनिरीक्षक राजेंद्र शाह व कांस्टेबल अशोक को मौके पर भेजा। पुलिस ने हंगामा शांत कराते हुए मामले की जानकारी जुटाई। श्रद्धालुओं का आरोप था कि पुजारी ने उनकी पिटाई की है। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि श्रद्धालुओं के साथ मारपीट करने वाले आरोपित पुजारी का शांतिभंग में चालान कर दिया गया है।

—————
विवाहिता को लगा 64 हजार का झटका
कुणाल दरगन।
देहरादून की एक विवाहिता के खाते से 64 हजार रुपये की नगदी गायब होने के मामले में हरिद्वार शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल, विवाहिता को शक है कि पिछले दिनों हरिद्वार के एक एटीएम से पैसे निकालने के दौरान ही साइबर ठगों ने उनके एटीएम कार्ड का क्लोन बनाकर ठगी की है। देहरादून से जीरो एफआईआर मिलने पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस के मुताबिक शांति विहार कॉलोनी, रायपुर देहरादून निवासी संदेश कपिल की पत्नी कोमल कपिल का बैंक खाता देहरादून में ही पीएनबी की एक शाखा में है। कुछ दिन पहले उनके बैंक खाते से करीब 64 हजार रुपये की नगदी गायब हो गई। विवाहिता ने देहरादून के रायपुर थाने में इस बाबत तहरीर दी। शुरूआती जांच में पता चला कि नगदी दिल्ली से निकाली गई है। पड़ताल के दौरान विवाहिता ने देहरादून की पुलिस को बताया कि बीते 23 अक्टूबर को वह हरिद्वार आई थी। जहां ऋषिकुल तिराहे के पास एक एटीएम से उन्होंने नगदी निकाली थी। उन्हें शक है कि उसी एटीएम पर किसी साइबर ठग ने उनके एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार किया है। जिसके बाद उनके बैंक खाते से नगदी निकाली गई है। रायपुर थाने में जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला हरिद्वार भेज दिया गया। एफआईआर हरिद्वार पहुंचने पर मंगलवार को शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया। शहर कोतवाल अमरजीत सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है। ऋषिकुल स्थित एटीएम की सीसीटीवी फुटेज चेक की जाएगी।

Share News
error: Content is protected !!