madan Kaushik did not become minister who will lead haridwar

मदन के सामने तीन दावेदार, इस नेता के सामने नहीं बना कोई चुनौती, पढें 11 सीटों के दावेदार

विकास कुमार/बिंदिया गोस्वमाी।
हरिद्वार में भाजपा की आठ विधायक हैं और संभावना जताई जा रही है सर्वे के अनुसार कुछ मौजूदा विधायकों का​ टिकट भी बदला जा सकता है। इसलिए मौजूदा विधायकों के सामने भी भाजपा नेता दावेदारी पेश कर रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के सामने भी दमदार तरीके से दावेदारी पेश की गई है। हालांकि इन दावेदारों के वजूद का अंदाजा लगाने के लिए पर्यवेक्षक जल्द ही आ रहे हैं। ऐसे में सभी ने अपने स्तर से जोडतोड शुरु कर दी है।

————————————
किस सीट पर कौन मांग रहा है टिकट
हरिद्वार सीट:
यहां पर प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के समाने उनके पुराने खास रहे और पूर्व मेयर मनोज गर्ग ने दावेदारी पेश की है। इसके अलावा युवा नेता कन्हैया खेवडिया पर भी दौड धूप कर रहे हैं। वहीं मदन कौशिक गुट के उज्जवल पंडित ने भी दावेदारी पेश कर दी है। हालांकि उन्होंने रानीपुर से भी टिकट मांगा है। अगर प्रदेश अध्यक्ष को चुनाव ना लडवाने पर फैसला होता है कि यहां मनोज गर्ग को मौका मिल सकता है।

रानीपुर: भेल रानीपुर सीट पर ​दो बार के विधायक आदेश चौहान का भारी विरोध हो रहा है। नगर पालिका चुनाव में बागी का समर्थन करने केा लेकर भी आदेश चौहान पर दबाव बना हुआ है। हालांकि उनकी दावेदारी मजबूत है। लेकिन फिर भी उनके सामने ब्राह्मण दावेदारों उज्जवल पंडित, देवकीनंदन पुरोहित जैसे चेहरें विकल्प बन सकते हैं। हालांकि, ये भी संभावना है कि अगर आदेश चौहान का टिकट बदला जाता है तो किसी चौहान नेता को ही सामने लाया जाए। इसमें जयपाल चौहान के नाम की भी चर्चा चल रही है।

ज्वालापुर सीट: ज्वालापुर सीट पर मौजूदा विधायक सुरेश राठौर का भी विरोध है और यहां देवेंद्र प्रधान, मनोज गौतम, तेलूराम जैसे नेताओं ने दावेदारी पेश की है।

झबरेडा सीट: सबसे ज्यादा चर्चाएं झबरेडा पर ​चेहरा बदलने की है। यहां देशराज कर्णवाल के अलावा डा. हर्ष दौलत, जोगेंद्र कुमार, भारती सिंह, सुरेंद्र मोगा, राजपाल सिंह, वैजयंती माला ने दावेदारी पेश की है।

रूडकी सीट: यहां प्रदीप बत्रा मजबूत स्थिति में हैं। फिर भी संजय अरोडा और नितिन शर्मा ने दावेदारी पेश की है।

खानपुर: खानपुर से प्रणव सिंह है। यहां प्रदीप चौधरी मनोज पंवार चुनाव लडना चाहते हैं। हालांकि प्रणव सिंह चाहते हैं कि मंगलौर पर उन्हें उतारा जाए जबकि देवयानी सिंह को खानपुर से टिकट दिया जाए। हालांकि, इसकी संभावनाएं कम ही लग रही हैं।

कलियर: कलियर सीट कांग्रेस के पास है और यहां से सबसे ज्यादा दावेदारी पेश की गई है। यहां प्रमुख तौर पर मुनीष सैनी, जयभगवान सैनी, कल्पना सैनी, अयज सैनी, आदित्य राज सैनी, डा. विनोद आर्य, राजेश सैनी, आदेश सैनी ने दावेदारी पेश की है।

भगवानपुर सीट: भगवानपुर पर कांग्रेस का कब्जा है। पिछली बार सुबोध राकेश के कारण भाजपा कडे मुकाबले में आई थी। लेकिन अब सुबोध राकेश ने बसपा ज्वाइन कर ली है। इसलिए यहां सतपाल मास्टर, अव्वल सिंह सहगल, साध्वी प्राची पर भाजपा दांव खेल सकती है।

मंगलौर सीट: मंगलौर में कांग्रेस के काजी निजामुद्दी के सामने भाजपा के पास ऋषिपाल बालियान, मधु सिंह, मास्टर नागेंद्र, सचिन गुज्जर, योगेश चौधरी, सुशील राठी, गौरव चौधरी जैसे नामों के विकल्प हैं।

हरिद्वार ग्रामीण : स्वामी यतीश्वरानंद के सामने कोई चुनौती बनने केा तैयार नही।

—————————————
कैसे बनाया जाएगा पैनल, क्या है प्र​क्रिया
भाजपा के जिला महामंत्री विकास तिवारी ने बताया कि हमारे यहां पैनल बनाए जाने की पूरी प्रकिया हैं। पर्यवेक्षक ​सभी पदाधिकारियों और मोर्चा से रायशुमारी करेंगे और ​जिसके बाद पैनल बनाया जाएगा। इसे प्रदेश अध्यक्ष को सौंपा जाएगा और ये रिपोर्ट सीधे हाईकमान को चली जाएगी। उन्होंने बताया कि कम से कम तीन नामों का पैनल बनाया जाएगा या ये भी हो सकता है सीट पर दावेदारों की उपलब्धता के आधार पर नाम तय किए जा सकते हैं।

————————
खबरों को व्हट्सएप पर पाने के लिए हमें मैसेज करें: 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!