law student filed case against swami yati narsihanand

दूसरे धर्म की महिलाओं पर अभद्र टिप्प्णी करने के मामले में हरिद्वार की लॉ छात्रा ने संत पर कराया केस

विकास कुमार।
हरिद्वार निवासी लॉ की छात्रा ने मुस्लिम महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में धर्म संसद आयोजित करने वाले विवादित संत स्वामी यति नरसिंहानंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। नगर कोतवाली में ये मुकदमा दर्ज कराया गया है। रुचिका निवासी निरंजनी अखाना मायापुर लॉ की तृतीय वर्ष की छात्रा है और उनको सोशल मीडिया के जरिए वीडियो मिला जिसके बाद उन्होंने यति के खिलाफ नगर कोतवाली में तहरीर दी। जिसके बाद महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद के खिलाफ आईपीसी की धारा 509 और 295 ए के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

————————————
क्या बोली लॉ छात्रा रुचिका
रुचिका ने बताया कि वो लॉ कॉलेज से तृतीय वर्ष की छात्रा है और फेसबुक के माध्यम से उन्हें पता लगा कि एक धर्म विशेष की महिलाओं पर अमर्यादित टिप्पणी की गई है। जो पूरी तरह से गलत और असंवैधानिक है। उन्होंने बताया कि देश का कानून किसी भी वर्ग या महिलाओं के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्प्णी या अभद्र भाषा के प्रयोग की इजाजत नहीं देता है। इसलिए मैंने से अपना फर्ज समझा और नगर कोतवाली में तहरीर दी। उन्होंने कहा युवाओं को गलत के खिलाफ खडा होना होगा ताकि एक बेहतर समाज का निर्माण हो सके।

——————————————
यति के खिलाफ पहले भी हो चुका है मुकदमा
यति नरसिंहानंद के खिलाफ हरिद्वार में धर्म संसद आयोजित कर मुसलमानों के नरसंहार करने वाली हेट स्पीच मामले में भी मुकदमा दर्ज हो चुका है। इससे पहले उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ था जिसमें उन्होंने राजनीतिक दलों में शामिल नेत्रियों पर आपत्तिजनक टिप्प्णी की थी जिसकी आलोचना बडे स्तर पर हुई थी।

खबरों को वाट्सएप पर पाने के लिए हमे मैसेज करें : 8267937117

Share News

One thought on “दूसरे धर्म की महिलाओं पर अभद्र टिप्प्णी करने के मामले में हरिद्वार की लॉ छात्रा ने संत पर कराया केस

  1. हिंदू ही हिन्दू का सबसे बड़ा दुश्मन बना हुआ है, बहुत सारे जयचन्द है जिन्हें हमे पहचानने की जरूरत है , ये सब बातें ठीक नहीं हो रहीं हैं अपनों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया जा रहा है बहुत अच्छे, बस इसी बात की कमी रह गई थी अब जाके तुम्हें आराम और सुकून मिला होगा लड़की क्यों

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!