online sex racket operated in haridwar investigate report

हरिद्वार में कॉल गर्ल की आनलाइन होम डिलीवरी, आनलाइन सेक्स रैकेट, देखें एक्सक्लूसिव वीडियो

विकास कुमार/ऋषभ चौहान।
धर्मनगरी हरिद्वार में जिस्फरोशी का धंधा भी हुआ आनलाइन हो गया है। जस्ट डायल जैसी नामी कंपनियों के जरिए मसाज पार्लर और सर्विस की आड में ये धंधा फल फूल रहा है। यही नहीं बस एक नंबर पर कॉल करने के बाद आपके व्हट्सएप पर दर्जनों लडकियों के फोटो भेज दिए जाते हैं। लडकियों के रेट तय होते हैं और पूरे हरिद्वार शहर में कहीं भी लडकियों की डिलीवरी महज पंद्रह मिनट में करने का दावा किया जाता है। यही नहीं लडकियों को होटल में बुलाओ या अपने घर या कहीं ओर, इनके पास सब सुविधाएं होती है। धर्मनगरी में ये धंधा बडी तेजी से फलफूल रहा है।

———————————————
कैसे चलता है पूरा धंधा
असल में जस्ट डायल के नंबर पर मसाज सर्विस इन हरिद्वार कहने भर से आपके पास कई मसाज सर्विसेज के नंबर मैसेज कर दिए जाते हैं। मैसेज आने के कुछ ही पलों के भीतर आपके नंबर पर व्हट्सएप पर लडकियों की कई तस्वीरें भेज दी जाती है। इसके अलावा कई बार दलाल खुद ही कॉल करते हैं और आपके कहने पर फोटो भेज दिए जाते हैं। फोटो के साथ रेट और डिलीवरी की जगह की लोकेशन भी भेज दी जाती है।

———————————————
अधिकतर नंबर बाहर के हैं
आनलाइन पकडे जाने के डर से स्थानीय दलाल बाहरी नंबरों का प्रयोग करते है। इनमें महाराष्ट्र और गुजरात के नंबर होते हैं। इन नंबरों पर कॉल करने पर कस्टमर को दूसरे नंबर दिए जाते हैं और इन नंबर से मैसेज करने के लिए कहा जाता है या फिर सीधे आपके नंबर पर दूसरे नंबर से लडकियों के फोटो भेज दिए जाते हैं।

———————————————
हरिद्वार में फैला नेटवर्क, पुलिस कार्रवाई जीरो
वहीं हरिद्वार जैसे धार्मिक नगरी में आनलाइन सेक्स रैकेट बहुत बडै पैमाने पर चल रहे हैं। लेकिन, पुलिस इस पर लगाम लगाने में नाकाम साबित हो रही है या कहें कि अभी तक इस ओर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है। पुलिस रेलवे स्टेशन और आस—पास के क्षेत्रों में रोड साइड सेक्स वर्कर को गिरफ्तार करती है। लेकिन आनलाइन और हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट पर पुलिस के हाथ अभी तक नहीं पहुंच पाए हैं।

खबरों को वाट्सएप पर पाने के लिए हमे मैसेज करें : 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!