Kumbh Mela Haridwar 2021

खास सिपेहसलार की पिटाई के बाद मेलाधिकारी दीपक रावत क्यों आए निशाने पर, क्या कहती है जनता

पीसी जोशी।
अव्यवसथाओं को लेकर अपर मेलाधिकारी हरवीर सिंह की पिटाई के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने मेलाधिकारी दीपक रावत को निशाने पर ले लिया है। सोशल मीडिया पर कई लोगों ने पोस्ट कर लिखा है कि संतों ने गलत अफसर को पीट दिया है। उधर, छोटे—छोटे मामलों पर खुद ही अपनी वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल करने वाले मेलाधिकारी दीपक रावत की अपने खास सिपेहसलार हरवीर सिंह की पिटाई के बाद मौका—ए—वारदात पर ना पहुंचना भी सबको खल रहा है। जिसको लेकर लोगों ने अब दीपक रावत के खिलाफ खुलकर बोलना शुरु कर दिया है। वहीं आईजी कुंभ मेला संजय गुंज्याल ने जिस तरह से मौके पर पहुंचकर हालात को संभाला और उग्र हुए संतों को बैकफुट पर आने को मजबूर किया, उससे हर कोई आईजी कुंभ मेला संजय गुंज्याल की तारीफ कर रहा है।

—————————————
हरवीर सिंह के समर्थन में आया हरिद्वार
वहीं अपर मेलाधिकारी हरवीर सिंह के समर्थन में लगभग सभी संगठनों ने आवाज बुलंद की है। व्यापारी नेता संजीव नैयर, पंजाबी महासभा के महामंत्री सुनील अरोडा के अलावा भाजपा और कांग्रेस के लगभग सभी नेताओं ने हरवीर सिंह का समर्थन किया है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर सक्रिय सभी लोगों ने घटना की निंदा करते हुए हरवीर सिंह का समर्थन किया है। क्योंकि हरवीर सिंह पूरे कुंभ मेला प्रशासन में अकेले अधिकारी हैं जो अकेले भागदौड कर व्यवस्थाओं को संभाल रहे हैं। लॉकडाउन में भी हरवीर सिंह के बेहतर काम को याद दिलाया जा रहा है।

——————————————————————
दीपक रावत मौके पर क्यों नहीं पहुंचे, उठे सवाल
अपर मेलाधिकारी की पिटाई होने के बाद आईजी कुंभ से लेकर पूरा प्रशासनिक एवं पुलिस अमला मौके पर पहुंच गया था लेकिन सुर्खियों में रहने के शौकीन मेला अधिकारी दीपक रावत दूर-दूर तक नहीं दिखाई दिए । लोग पूछ रहे हैं कि आखिर मेला अधिकारी वहां जाने से क्यों घबरा रहे थे । क्या उन्हें किसी अनहोनी अनहोनी का डर था ? इसी तरह के कई सवाल हवा में तैर रहे हैं । वही सोशल मीडिया पर पब्लिक हरवीर सिंह के समर्थन में यह टिप्पणी कर रही है कि “करे कोई और भरे कोई “इस टिप्पणी का इशारा सीधे-सीधे कुंभ मेले की माया से जुड़ा हुआ है । यह पूरा मामला सुर्खियों में तो है ही लेकिन मेला अधिकारी दीपक रावत भी इस मसले को लेकर खासी चर्चा में है ,क्योंकि किसी भी आमजन को पकड़कर किसी मुद्दे पर कई कई मिनट तक अपनी वीडियो बनवाने वाले मेलाधिकारी आखिरकार मौके पर क्यों नहीं गए। ये सवाल हर कोई पूछा रहा है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!