haridwar district vote for bjp congress bsp and aspa

हरिद्वार: वोटरों के रुझान से दिग्गजों की सांसें अटकी, 11 सीटों पर कैसा रहा मतदान

विकास कुमार/बिंदिया गोस्वामी।
हरिद्वार जनपद की महत्वपूर्ण 11 सीटों पर हुए मतदान में दिग्गजों की सांसें अटक गई है। हर सीट पर हुए भयंकर मुकाबले में कुछ भी हो सकता है वाली स्थिति आ गई है। हरिद्वार में वोटिंग प्रतिशत भी अच्छी होने के कारण दिग्गज नेताओं की रात की नींदें 10 मार्च तक गायब होने वाली है। किस सीट पर क्या रहा रहा मतदान जानते हैं।

————————————
हरिद्वार शहर सीट क्या है मदन कौशिक की स्थिति
हरिद्वार शहर सीट पर साठ प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ है। यहां भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को कांग्रेस के सतपाल ब्रह्मचारी ने कडी टक्कर दी है। हरिद्वार शहर के एक वर्ग का बडा वोट बैंक भाजपा से छिटका है। वहीं सतपाल ब्रह्मचारी ने उत्तरी हरिद्वार में मजबूती दिखाई है। जबकि मदन कौशिक कनखल, मध्य हरिद्वार और बस्तियों में मजबूत दिखे हैं। हालांकि ये मजबूती पहली जैसी नहीं है। इसी कारण इस सीट पर बहुत ही कांटे का मुकाबला बन गया है। जिसका निर्णय 10 मार्च को ही हो सकता है अभी कोई भी कुछ भी सीधे तौर पर बता नहीं सकता है।

————
रानीपुर सीट में आदेश चौहान का क्या रहेगा
वहीं भाजपा की परपरांगत सीट रानीपुर पर भी भाजपा के आदेश चौहान और कांग्रेस के राजबीर चौहान ने अच्छी लडाई लडी है। कुछ जगह कांग्रेस मजबूत रही तो कई जगह आदेश चौहान अपने व्यवहार और काम के जरिए आगे रहे। यहां भी स्थिति ऐसी ही है। हालांकि, दिग्गज पत्रकारों और वरिष्ठ नेताओं से बात की गई तो उन्होंने पुराने नतीजों पर ही भरोसा जताने की वकालत की लेकिन कुछ भी हो सकता है वाली स्थिति पर उनकी राय भी जय की तस थी।

————
हरिद्वार ग्रामीण पर मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद का क्या होगा
हरिद्वार सबसे हॉट सीट थी हरिद्वार ग्रामीण जहां भाजपा के मंत्री स्वामी यतीश्वरानंद लड रहे थे जबकि सीएम के दावेदार हरीश रावत के बेटी अनुपमा रावत मैदान में थी। शुरु में माना जा रहा था कि अनुपमा रावत पर स्वामी भारी रहेंगे लेकिन आखिरी तक अनुपमा रावत बहुत मजबूती से चुनाव लडी और गंगा के इस पार व उस पार दोनों जगह ही स्वामी को चुनौती दी। इसलिए इस सीट पर कुछ भी हो सकता है वाली स्थिति है।

——————————————
लक्सर में बसपा, भाजपा, कांग्रेस में मुकाबला
वहीं लक्सर सीट पर बसपा के शहजाद ने अच्छा चुनाव लडा। इस सीट पर बसपा, भाजप और कांग्रेस में त्रिकोणीय मुकाबला है। यहां बसपा के शहजाद और भाजपा के संजय गुप्ता ने अच्छा मुकाबला देखने को मिला।

—————————————
ज्वालापुर सीट पर क्या होगा
ज्वालापुर पर आखिरी वक्त में भाजपा के सुरेश राठौर मजबूत हुए। लेकिन यहां आसपा के एसपी सिंह इंजीनियर कांग्रेस के रवि बहादुर इंजीयिर के बीच मुख्य मुकाबला है। यहां मुकाबला त्रिकोणीय है इसलिए कुछ भी हो सकता है। लेकिन भाजपा अप है।

—————————
रूडकी में कांटे का मुकाबला
वहीं रूडकी विधानसभा में बत्रा और राणा के बीच सीधा मुकाबला है। दोनों ने ही खूब मेहनत की है और वोटरों ने भी दोनों की मेहनत को सराहा है। इसलिए यहां भी कुछ भी हो सकता है।

————————————
कलियर में भाजपा और कांग्रेस में सीधा मुकाबला
वहीं कलियर में भाजपा और कांग्रेस में सीधा मुकाबला देखने केा मिला है। कांग्रेस यहां पहले अप दिख रही थी लेकिन आप और आसपा ने अच्छा चुनाव लडा और भाजपा अपने वोट बैंक के सहारे फाइट में दिखती नजर आई।

————————
मंगलोर में काजी और हाजी
मंगलौर विधानसभा में काजी निजामुद्दानी भारी है लेकिन बसपा के हाजी सरवत करीज ने भी बहुत अच्छा चुना लडा है और वोटर आखिरी तक अपना मिजाज बना नहीं पाए। यहां भाजपा ने भी अच्छी फाइट दी है।

—————————————————
खानपुर में पनियाला या रानी साहिबा
वहीं खानपुर सीट पर बसपा के रविंद्र पनियाल, भाजपा से रानी देवयानी और कांग्रेस से सुभाष चौधरी व निर्दलीय उमेश पत्रकार फाइट में थे। सभी ने अच्छा चुनाव लडा है। लेकिन मुस्लिम मतदाता निर्णायक भूमिका में थे इसलिए यहां भी कुछ भी हो सकत है वाली स्थिति है।

————————————
भगवानपुर में देवर भाभी में बंटे वोटर
वहीं भगवानपुर में ममता राकेश और सुबोध राकेश के अलावा भाजपा के प्रत्याशी के बीच मतों का विभाजन हुआ।

———————————————
झबरेडा में भी कांटे की टक्कर
झबरेडा में भी वोटरों के मिजाज को कोई भांप नहीं पाया यहां भी कांटे की टक्कर बताई जा रही है।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!