Gurukul Kangri university professor serious allegation by teachers

गुरुकुल के प्रोफेसर के बेटे का एग्जाम रिजल्ट थर्ड डिवीजन से बनाया अव्वल, गुरुकुल में बवाल

बिंदिया गोस्वामी/विकास कुमार।
गुरुकुल के वैदिक संस्थान में बतौर प्रोफेसर तैनात प्रो. सत्यदेव निगमालंकार पर गुरुकुल कांगडी विवि के ही शिक्षकों और कर्मचारियों ने गंभीर आरोप लगाए है। आरोप है प्रो. सत्यदेव के पुत्र विवेक कुमार के बी फार्मा के परीक्षाफल में नियमों के विरूद्ध जाकर एग्जाम रिजल्ट को अव्वल कर दिया। इस मामले में शिक्षकों और कर्मचारियों ने कुलपति प्रो. रूपकिशोर शास्त्री की भूमिका पर भी सवाल खडे किए हैं और पूरे मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की गई है।
वहीं दूसरी ओर शिक्षकों और कर्मचारियों का ये भी आरोप है कि प्रो.सत्यदेव निगमालंकार के शैक्षिक दस्तावेजों में भी फर्जीवाडा है जिसकी शिकायत के बाद भी जांच नहीं की जा रही है। प्रो. सत्यदेव के फर्जी शैक्षिक दसतावेज के प्रमाण प्रो. श्रवण कुमार शर्मा ने कुलसचिव को सौंपे हैं। वहीं बताया जा रहा है कि प्रो. रूपकिशोर शास्त्री ने ये कारनामा इसलिए किया क्योंकि प्रो. रूप किशोर शास्त्री के दस्तावेजों में खुद बहुत बडा फर्जीवाडा है जिसे प्रो. सत्यदेव ने पकड लिया था और इसी दबाव में उनके बेटे को नियमों के विपरीज जाकर परीक्षा में नंबर बढाए गए। इन्हीं सब मुद्दों को लेकर शिक्षकों और कर्मचारियों की एक बैठक विवि के केंद्रीय कार्यालय परिसर में हुई जिसमें इन मुद्दों पर कार्रवाई करने और कार्रवाई ना होने पर आगे की रणनीति पर विचार किया गया।

——————
बैठक में क्या आरोप लगाए गए
प्रो. श्रवण कुमार शर्मा ने कहा कि प्रो0 सत्यदेव निगमालंकार के पुत्र के विश्वविद्यालय द्वारा जारी बी0फार्मा के परीक्षाफल में नियम विरूद्ध जाकर परीक्षाफल में किए गए परिवर्तन पर सवाल उठाते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन पर प्रश्नचिन्ह उठाया। बैठक पश्चात् एक पत्र कुलाधिपति व शिक्षा मंत्रालय को भेजे जाने हेतु कुलसचिव को सौंपा। शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों ने पुरजोर से विरोध कर कार्यवाहक संयुक्त कुलसचिव डा0 श्वेतांक आर्य को पद से हटाने की मांग की, क्योंकि वह शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करते है तथा उनके शिक्षण कार्य न करने से बच्चों का भविष्य चौपट हो रहा है। प्रो0 प्रभात कुमार ने कहा कि आर्य समाज गुरुकुल कांगड़ी के वार्षिक चुनाव कराए जाने तथा आर्य समाज के अध्यक्ष प्रो0 सत्यदेव निगमालंकार द्वारा धन का दुरुपयोग करने की निन्दा की। प्रो0 राकेश शर्मा व अन्य ने शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारियों की एक समन्वयक समिति बनाने का प्रस्ताव रखा जिसका सभी ने स्वागत किया। प्रो0 अम्बुज कुमार ने कहा कि बोर्ड आफ मैनेजमेंट में ऐसा कोई भी प्रस्ताव पास नहीं किया जाएगा जिसका कर्मचारियों पर कोई आंच आए। बैठक में शिक्षक एवं शिक्षकेत्तर कर्मचारी उपस्थित रहे। वहीं दूसरी ओर प्रो. सत्यदेव निगमालंकार ने सभी आरोपों को झूठा बताया और इनके सबूत देने की मांग की है।

खबरों को व्हट्सएप पर पाने के लिए हमें मैसेज करें: 8267937117

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!