साढे तीन करोड़ के गबन में सरकारी अफसर गिरफ्तार, हरिद्वार के इन फर्जी कॉलेजों के नाम आए सामने

विकास कुमार।
एसएटी स्कालरशिप घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने वर्ष 2012-13 एवं 2013-14 शैक्षणिक संस्थान Manav Bharti viswa vidhalya Solan, Himachal Pradesh में दिखाए गए छात्रों के नाम पर साढे तीन करोड रुपए की स्कालरशिप घोटाले में तत्कालीन सहायक समाज कल्याण अधिकारी मुनीष कुमार त्यागी पुत्र संगता सिंह, तत्कालीन सहायक समाज कल्याण अधिकारी हरिद्वार ,निवासी, मौहल्ला विनीत नगर गली न0-03, निकट महीपाल की कोठी, पनियाला रोड़ रूडकी हरिद्वार को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में पूर्व में जिला समाज कल्याण अधिकारी अनुराग शंखधर को गिरफ्तार किया जा चुका है।

——————————————————
ऐसा हुआ खुलासा
जांच अधिकारी योगेश देव ने बताया कि जिला समाज कल्याण विभाग के दस्तावेजों के अनुसार साढे तीन करोड रुपए मानव भारती विश्वविद्यालय, सोलन हिमाचल प्रदेश के बैंक खातों में दिया जाना दिखाया गया, जबकि विवि की ओर से इससे इनकार किया गया। बैंक खातों की डिटेल निकाली तो ये धनराशि सुभाष पुत्र बाबूराम निवासी ग्राम पनियाला रूडकी जिला हरिद्वार व किरण देवी पत्नी सुभाष निवासी ग्राम पनियाला रूडकी जिला हरिद्वार- संचालक किरन इन्स्टीट्यूट आॅफ मैनजमैन्ट एण्ड टैक्नोलाजी, राहुल विश्नोई पुत्र के.केेे. विश्नोई निवासी मनीराम रोड ऋषिकेश देहरादून- संचालक मानव भारती विश्वविद्यालय एन पावर एकेडमी रानीपुर मोड हरिद्वार 3- अश्वनी टन्डन पुत्र प्रकाश नारायण निवासी 166 आवास विकास थाना गंगनहर रूडकी हरिद्वार के खातों में गई।

उक्त शैक्षणिक संस्थानों की मानव भारती विश्वविद्यालय सोलन हिमाचल प्रदेश से मान्यता/सम्बद्वता फर्जी पाये जाने, संस्थान धरातल पर नहीं पाए गए। जिसके चलते इस मामले में चार्जशीट भी दाखिल की गई। इसी मामले में आरोपी मुनीष त्यागी की तलाश थी जिसे आज गिरफ्तार कर लिया गया।

Share News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!