Uttarakhand Viral News

अब घर वापसी नहीं, भाजपा का दामन थामेंगे शहजाद

अब घर वापसी नहीं, भाजपा का दामन थामेंगे शहजाद
परवेज आलम।
बसपा से दो बार बाहर हो चुके पूर्व विधायक मौहम्मद शहजाद अब बसपा में घर वापसी का इंतजार नहीं करेंगे। इस बार शहजाद भाजपा का दामन थामने जा रहे हैं। शहजाद भाजपा के टिकट पर कलियर से चुनाव लड़ने की जुगत में लगे हैं। हालांकि, अभी भाजपा इस मसले पर कुछ भी खुलकर कहने को तैयार नहीं है। शहजाद के करीबियों की मानें तो भाजपा के नेताओं से बात फाइनल हो चुकी हैं।
मौहम्मद शहजाद हरिद्वार में मुसलमानों के जनाधार वाले नेता रहे हैं। शहजाद रानीपुर विधानसभा से दो बार विधायक भी रहे हैं। तीसरी बार वो कलियर से चुनाव लड़े थे, जिसमें उन्हें फुरकान अली ने हरा दिया था। शहजाद ने अपनी भाभी अंजुम बेगम को भी बसपा से ही जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर जिताया था। लोकसभा चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों को देखते हुए उन्हें बाहर कर दिया गया था। लेकिन, विधानसभा चुनाव से पहले बहनजी ने उनकी घर वापसी करा दी थी। लेकिन, जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव से ठीक एन वक्त पहले बहनजी के आदेश से उन्हें दोबारा घर निकाला दे दिया गया था। शहजाद के भाई का पर्चा भी एक दिन पहले ही वापस करा दिया गया था। उनके भाई, उनकी भाभी को भी पार्टी से निकाल दिया गया था। शहजाद पर भाजपा के जिला पंचायत सदस्यों से समर्थन लेने का आरोप लगाया था। वहीं शहजाद ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया था।
शहजाद अब तीसरी बार बसपा में घर वापसी का इंतजार नहीं करेंगे। इस बार वो अपने समर्थकों के साथ भारतीय जनता पार्टी में जाने की तैयारी कर चुके हैं। सूत्रों की मानें तो भाजपा के नगर विधायक मदन कौशिक की मदद से उनकी भाजपा में एंट्री तय मानी जा रही है। हालांकि इस मामले में भाजपा के बडे नेता कुछ भी कहने से बच रहे हैं। लेकिन, शहजाद खुले आम अपने समर्थकों और शुभचिंतकों को भाजपा में जाने की बात कह चुके हैं। जल्द ही शहजाद भाजपा में जाने का अधिकारिक ऐलान कर सकते हैं। उनकी रणनीति भाजपा के टिकट पर कलियर विधानसभा से चुनाव लड़ने की हैं। कलियर सीट पर उनकी अपनी जाति के सबसे अधिक वोट हैं। ऐसे में वो जातीय संतुलन बनाकर चुनाव लड़ने का दावा कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.