nagar nigam haridwar mayor antia sharma pay amount
Breaking News Haridwar Latest News Uttarakhand

गोलमाल: जिसको कोसती थी मेयर साहिबा, उसे ही कर दिया लाखों का भुगतान

चंद्रशेखर जोशी।
हरिद्वार नगर निगम को तंगहाली और बदहाली से निकालने का दावा करने वाली मेयर अनीता शर्मा कहती कुछ हैं और करती उसके ठीक उलटा हैं। कल तक शहर की सफाई व्यवस्था को लेकर वो निगम के अधिकारियों से लेकर कचरा उठाने वाली कंपनी केआरएल पर गंभीर आरोप लगाने वाली मेयर अनीता शर्मा केआरएल को भुगतान की बात पर चुपचाप होकर साइन कर देती है। हालही में केआरएल को 54 लाख रुपए का भुगतान किया गया। जबकि, मेयर अनीता शर्मा ये कहती रही है कि सफाई व्यवस्था को लेकर अधिकारी उन्हें काम नहीं करने देते हैं। लेकिन जब वो ही अधिकारी केआरएल को भुगतान की फाइल पर सबसे आखिरी में साइन कराने आते हैं तो उस पर बिना किसी आपत्ति के साइन भी कर दिए जाते हैं।
पहले से ही बदहाल सफाई व्यवस्था से दो चार हो रही हरिद्वार की जनता खुद को मेयर अनीता शर्मा के दोहरे रवैये से ठगा सा महसूस कर रही है। ये आलम तब है जबकि केआरएल के कार्यों की जांच में निगम के अफसर कमी पेशी होने की बात कबूलते रहे हैं और जांच के बाद केआरएल को ब्लैक लिस्ट करने की भी तैयारी कर ली गई थी। लेकिन, अब सब कुछ सही है और केआरएल निगम के संसाधनों के साथ कचरा उठाने का पैसा भी ले रही है और जनता से पचास रुपए प्रति परिवार भी वसूल रही है।
अमर उजाला के वरिष्ठ पत्रकार रतनमणि डोभाल बताते हैं कि केआरएल निगम अधिकारियों और नेताओं के लिए दूधारु गाय बन गई है। कल मेयर अनीता शर्मा उनके पति अशोक शर्मा से लेकर भाजपा के पार्षद केआरएल के काम पर हाय तौबा मचाए हुए थे। केआरएल पर सफाई ना करने के आरोप लगाए जा रहे थे। यही नहीं अधिकारियों ने जांच के दौरान खामियां भी पाई थी और जांच के बाद केआरएल को ब्लैक लिस्ट कर हटाने और जुर्माना वसूलने की बातें हो रही थी। लेकिन, अब ठीक उसके उलट हो रहा है। केआरएल को लाखों रुपए का भुगतान निगम की कार्यशैली पर सवाल खडे करता है। जबकि, शहर की सफाई व्यवस्था किसी से छुपी नहीं है।

————
क्या कहते हैं मेयर अनीता शर्मा
हालांकि हमने मेयर अनीता शर्मा से उनका पक्ष जानना चाहा लेकिन उनकी ओर से उनके पति अशोक शर्मा ने बताया कि केआरएल काम कर रही है इसलिए उसे भुगतान किया जा रहा है। केआरएल की जांच के बारे में निगम के अधिकारी बताएंगे। हालांकि जब उनसे पूछा गया कि कल तक आप केआरएल और अधिकारियों पर सवाल खडे कर रहे थे तो उन्होंने कहा कि हमने तो कई पत्र शाासन और सरकार को लिखे हैं। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होती है। ऐसे में ये भी बडा सवाल है कि जब आप केआरएल के काम से संतुष्ट नहीं है तो भुगतान की फाइल पर साइन कैसे कर​ दिए जाते हैं।

—————
क्या कहते हैं भाजपा के पार्षद
भाजपा के वरिष्ठ नेता और निगम पार्षद अनिरूद्ध भाटी ने बताया कि हम मेयर अनीता शर्मा के फैसले से संतुष्ट नहीं है। शहर में अभी भी सफाई व्यवस्था सही नहीं हुई है। हमने सबने देखा है कि कैसे कूडा कई कई दिनों तक सडता रहा। मेरे वार्ड में अभी भी हालात सही नहीं है। हम इस भुगतान का विरोध करते हैं और बोर्ड की बैठक में इस मुद्दे को उठाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.