Latest News Uttarakhand

संत को प्रोपर्टी डीलर ने दी जान से मारने की धमकी

DSC_2233संत को प्रोपर्टी डीलर ने दी जान से मारने की धमकी
— कनखल की करोड़ों रुपए की जमीन का मामला
— प्रोपर्टी डीलर एक संत की हत्या में जा चुका है जेल
एमएस नवाज, एसके तिवारी।
मंदिर की संपत्ति को बचाने की लड़ाई लड़ रहे कनखल के संत ने प्रोपर्टी डीलर पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। जिस प्रोपर्टी डीलर पर आरोप लगा है कि वो हरिद्वार के चर्चित महंत सुधीर गिरी हत्याकांड में भी जेल जा चुका है। वहीं प्रोपर्टी डीलर ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है और सबूतों के आधार पर उनके खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही है।
कनखल के सरस्वती आश्रम के महंत स्वामी महेश्वरानंद ने हरिद्वार में आयोजित प्रेस वार्ता में बताया कि कनखल के ही राधा कृष्ण मंदिर की संपत्ति को इसे ट्रस्टियों ने निजी संपत्ति बताकर इसे कनखल के एक प्रोपर्टी डीलर आशीष शर्मा उर्फ टुल्ली को बेच दिया था। इसके बाद इस संपत्ति को बचाने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ी गई। उनके वकील विजय शर्मा ने बताया कि कोर्ट ने इस तरह मंदिर की जमीन बेचने को गलत बताया है। अभी भी इस मामले में कोर्ट में सिविल वाद चल रहा है। जमीन के मामले में पैरवी करने वाले संत महेश्वरानंद ने बताया कि उन पर पैरवी से पीछे हटने के लिए दबाव बनाया गया। यहां तक कि आशीष शर्मा उर्फ टुल्ली ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी। इसके बाद उन्होंने पुलिस को शिकायत की थी, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। वहीं प्रोपर्टी डीलर आशीष उर्फ टुल्ली ने आरोपों को गलत बताया है।

क्या कहते हैं आशीष शर्मा
आशीष शर्मा उर्फ टुल्ली ने बताया कि ये जमीन डेढ़ करोड़ में इस आधार पर खरीदी गई थी ​क्योंकि इसका ट्रस्ट से कोई लेना देना नहीं था। इसको तत्कालीन एसडीएम हरवीर सिंह ने भी निजी संपत्ति दर्ज की थी। लेकिन, बाद में एसडीएम हरवीर सिंह ने इसे फिर से ट्रस्ट की संपत्ति बता दिया। इसके कारण मैं नहीं जानता। लेकिन, जब ये संपत्ति ट्रस्ट की दर्ज हुई तो मैं इससे पीछे हट गया। जहां तक जान से मारने की धमकी देने का आरोप है कि अगर संत महेश्वरानंद के पास कोई सबूत है तो वो पुलिस के पास जाकर मेरे खिलाफ केस दर्ज करा सकते हैं। मुझ पर एक केस पहले से चल रहा है। उनके सभी आरोप बेबुनियाद हैं। उल्टा उनकी तरफ से ही मुझ पर सुलह—समझौते की पेशकश की गई थी।

कौन है आशीष शर्मा उर्फ टुल्ली
कनखल के महानिर्वाणी अखाड़े में मामूली से पद पर काम करने वाला आशीष शर्मा उर्फ टुल्ली आज शहर के नामी प्रोपर्टी डीलरों में से एक है। आशीष शर्मा पर अखाड़े से ही जुड़े संत महंत सुधीर गिरी की हत्या का षड़यंत्र रचने का आरोप है। इस मामले आशीष शर्मा जेल भी जा चुका है। फिलहाल जमानत पर रिहा है। हत्या के पीछे जमीनी विवाद होने का पुलिस ने दावा किया था।

कौन थे महंत सुधीर गिरी
महंत सुधीर गिरी महानिर्वाणी अखाड़े के महंत थे। बताया जाता है कि अखाड़े की बेशकीमती जमीनों की बंदरबांट करने में अखाड़े के ही कुछ पदाधिकारियों की मदद से आशीष शर्मा ने खूब चांदी काटी थी। 2013 में होने वाले इलाहाबाद कुंभ में महंत सुधीर गिरी को अखाड़े में अहम पद दिया जाने की चर्चा थी। सूत्र बताते हैं कि अगर महंत सुधीर गिरी को जिम्मेदारी मिलती तो जमीनों की बंदरबांट के खेल का पर्दाफाश हो सकता था। लेकिन, इससे पहले ही महंत सुधीर गिरी की हत्या कर दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.