Breaking News Haridwar Latest News Uttarakhand Viral News

सीएम बनने की चर्चा पर डा. निशंक ने कहीं ये बात, बताया सफलता का राज, जेएनयू पर भी बोले

चंद्रशेखर जोशी।
केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक रविवार को प्रेस क्लब हरिद्वार में पत्रकारों से संवाद करते हुए अपनी सफलता का राज बताय। उन्होंने बताया कि कैसे एक गरीब परिवार से आने के बावजूद वो निरंतर जीवन में आगे बढते रहे। उन्होंने कहा कि सफलता के लिए सकारात्मकता बहुत जरूरी होती है। इसके अलावा छोटी—छोटी बातों विवादों में नहीं उलझना चाहिए। बडे लक्ष्य को पाना है तो छोटी—छोटी बातों से दूर रहना चाहिए। वहीं दूसरी ओर किसी को नुकसान पहुंचाने वाली सोच नहीं होनी चाहिए। किसी को नुकसान पहुंचा कर कोई आगे नहीं बढ सकता है। उन्होंने कहा​ कि जब तक बडा मन नहीं करोगे तब तक जीवन में सफलता नहीं मिल सकती है।

——–

संपन्न परिवार में पैदा होता तो यहां नहीं पहुंच पाता
अपने जीवन के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि मेरे जीवन में हरिद्वार का बडा महत्व हैं। मैं एक गरीब परिवार में जन्मा हूं और मेरे पिता एक माली थी। मेरे परिवार को उम्मीद थी कि ये एक छोटी मोटी कलर्क की नौकरी कर लेगा। लेकिन, हरिद्वार में आश्रम में प्रवेश पाने के बाद मेरा जीवन बदल गया। मैंने दैनिक पत्र सीमांत वार्ता शुरू किया और अखबार में खबर लिखने से लेकर उसको फोल्ड करने तक का काम मैंने किया। मैंने अपने समय को मरने नहीं दिया और उसका प्रयोग साहित्य में किया। मैं कविता, उपन्यास और कहानियां लिखता रहा और आज भी लिखता हूं। मैंने अपने जीवन को जिया और नकारत्मकता को पास नहीं आने दिया।

——————
शिक्षण संस्थानों को वैश्विक स्तर पर दिलाएंगे पहचान
उन्होंने कहा कि देश के शिक्षण संस्थानों को दुनिया के पटल पर पहचान बनाने काम सरकार ने अपने हाथों में लिया है। इसलिए लिए उनके मंत्रालय ने चालीस शिक्षण संस्थानों को चुना है। इनमें से 20 सरकार संस्थान है तो 20 प्राइवेट सेक्टर से हैं। इनके समुचित विकास के लिए सरकार हर संभव मदद कर रही है। ताकि भारत की प्रतिभाओं का नाम दुनिया भर में हो सके। उन्होंने कहा कि शिक्षा में सुधार के लिए जमीनी स्तर पर राज्य सरकारों की मदद से काम किया जा रहा है। चूंकि शिक्षा राज्य सरकार का विषय है इसलिए जो सरकारें अच्छा काम कर रही है, उनको एक कदम आगे बढकर केंद्र सरकार मदद मुहैया करा रही है। उन्होंने कहा कि देश में शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के लिए वृहद स्तर पर काम चल रहा है। सरकार नई शिक्षा नीति बनाने का काम किया जा रहा है, जिसके लिए देश भर से सुझाव मांगे गए हैं। करीब दो लाख सुझाव मंत्रालय को प्राप्त हुए हैं। ये दुनिया में एक मिसाल से कम नहीं है। इन सुझावों पर काम करने के लिए दिल्ली और बैंगलौर में आॅफिस बनाए गए हैं। मुझे आशा है कि अगले छह माह में नई शिक्षा नीति हम लेकर आ रहे हैं।

——————
जेएनयू पर हमें गर्व लेकिन अराजकता बर्दाश्त नहीं
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जेएनयू जैसे संस्थान हमारे लिए किसी गर्व से कम नहीं है। यहां से काफी प्रतिभाएं निकल रही है। लेकिन ऐसे असमाजिक तत्व भी मौजूद हैं जो ऐसे संस्थानों की गरिमा को ठेस पहुंचाने का काम कर रहे हैं। ऐसे तत्वों को बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इनके साथ सख्ती से पेश आया जाएगा।
—————
मुख्यमंत्री बदलने की चर्चाओं पर भी बोले
उन्होंने कहा कि मैंने अपना पूरा जीवन भाजपा को समर्पित कर दिया है। मुझे पार्टी जो भी आदेश देती है, मैं उसका पालन करना आया हूं। इसलिए पार्टी मुझे जो भी आदेश देगी, मैं उसका ससम्मान पालन करूंगा।

इस दौरान कार्यक्रम में प्रेस क्लब अध्यक्ष राजेश शर्मा, महामंत्री महेश पारिख, कोषाध्यक्ष राजकुमार सहित प्रेस क्लब के कई वरिष्ठ और कनिष्ठ पत्रकार उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.