Latest News Roorkee चुनावी जंग

‘हरिद्वार ‘संवारने’ के बाद मेयर ने किया इमलीखेड़ा कूच, कलियर से ठोंकी दावेदारी’

 

एसएन चौधरी, अतीक साबरी।

हरिद्वार नगर निगम को बदहाली और कंगाली से निकालने की नाकाम कोशिश के बाद अब मेयर मनोज गर्ग ने अपने गावं इमलीखेड़ा कूच करने का मन बना लिया है। उन्होंने कलियर विधानसभा सीट से टिकट की दावेदारी की है। इमलीखेडा उनका पैतृक गांव है और कलियर विधानसभा में आता है।

हालांकि, कलियर विधानसभा सैनी बाहुल्य सीट है और यहां से सैनी उम्मीदवार लगातार दावेदारी पेश कर रहे हैं। इनमें श्यामवीर सैनी, आदित्यराज सैनी, कल्पना सैनी और प्रेमचंद सैनी का नाम है। फिर भी विधायक बनने की चाह मेयर साहब को कलियर ले गई है। मेयर मनोज गर्ग ने बताया कि कलियर विधानसभा चुनाव जीतने के लिए वो एक आदर्श उम्मीदवार हैं। इनमें ईमानदारी, सहनशीलता, सबकी सुनने की क्षमता और कार्य करने की लगन है। उन्होंने बताया कि जब वो इमलीखेडा से आकर हरिद्वार में नगर मेयर का चुनाव जीत सकते हैं तो जहां वो पैदा हुए हैं वहां से विधायक का चुनाव नहीं जीत सकते। इसलिए मुझे लगता है कि पार्टी को मुझ पर यकीन करते हुए और मेरी खूबियों को देखते हुए कलियर विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाना चाहिए।

हालांकि, उनके विरोधियों का आरोप है कि जो नगर हरिद्वार का विकास नहीं कर पाया जो नगर निगम को बदहाली से नहीं निकाल पाया हो वो कलियर का विकास कैसे कर सकता है। ये कलियर के लिए उस तरह की मिसाल होगी जैसे कलियर की कंगाली में आटा गीला।

वहीं कांग्रेस ने भी उन पर निशाना साधा है युवा नेता सुनील सेठी ने बताया कि नगर निगम में कर्मचारियों को तनख्वाह नहीं मिल रही है, पशेनर्स को पेशंन का टोटा हैं। नगर निगम में हडतालों का दौर रहता हैं बावजूद इसके मेयर साहब विधायक बनने का ख्वाब पाल रहे हैं। इसमें कोई बुराई नहीं है लेकिन अपनी क्षमता का भी आंकलन किया जाना जरूरी है। मेयर साहब से हमारी ये ही गुजारिश है कि पहले नगर निगम की तस्वीर संवारने का काम करें। कलियर में जमानत जब्त करवाने का शौक है तो बेशक जा सकते हैं। वहीं वरिष्ठ नेता संजय पालीवाल ने बताया कि वैसे मेयर साहब को जाना इमलीखेडा ही है। क्योंकि जो हाल उन्होंने नगर निगम का किया, उससे ये तय है कि जनता उन्हें अगले चुनाव में इमलीखेडा ही भेजेगी।

 

One Reply to “‘हरिद्वार ‘संवारने’ के बाद मेयर ने किया इमलीखेड़ा कूच, कलियर से ठोंकी दावेदारी’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.