Breaking News Dehradun Latest News Uttarakhand

बाहरवाली के चक्कर में घरवाली का कत्ल किया, देहरादून का मामला

चंद्रशेखर जोशी।
देहरादून में एक युवक ने किसी दूसरी महिला की खातिर अपनी पत्नी की हत्या कर दी। यही नहीं घटना को छुपाने के लिए उसने शव को नदी में बहा दिया और परिजनों को बताया कि उसकी पत्नी अपने गांव उत्तरकाशी चली गई है। लेकिन परिजनों को शक होने पर उन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी और पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया।
देहरादून के थाना सहसपुर में जयंती प्रसाद नौटियाल निवासी ग्राम जगड गांव धरासू जिला उत्तरकाशी ने अपनी बेटी मीना देवी की गुमशुदगी दर्ज कराई। उन्होंने बताया कि उसकी शादी 2001 में मधूसूदन जगूडी के साथ हुई थी और उसके दो बच्चे भी है। कुछ साल पहले मधुसूदन इनकी पुत्री को छोड़ कर बिना बताए गावँ से चला गया। जिसकी काफी तलाश की गई तो ज्ञात हुआ कि वह देहरादून के ग्राम फतेहपुर में रह रहा है जिस पर मधुसूदन के बड़े भाई द्वारा इससे संपर्क किया गया तो और अक्टूबर 2018 में मेरी बेटी मीना को बच्चों सहित ग्राम फतेहपुर धर्मावाला में मधुसूदन के पास छोड़ दिया गया था, उसके कुछ दिन तक तो हमारा संपर्क मीना से हुआ पर लगभग 01 महीने से मीना से कोई संपर्क न होने पर मधुसूदन से पुछने पर उसके द्वारा बताया गया कि वह दिनाँक 22.11.2018 को घर से उत्तरकाशी बोल कर गई है। लेकिन वह अभी तक न नही उत्तरकाशी आई है और न ही देहरादून में है।
किसी दूसरी महिला से कर ली थी शादी: पुलिस ने जांच में पाया कि मधूसूदन ने टिहरी जिले से शीतल नामक महिला से दूसरी शादी कर ली जिससे 01 पुत्र का जन्म हुआ और उसके साथ ग्राम फतेहपुर धर्मावाला में किराये पर रहकर दोनो पति पत्नी सेलाकुई में फैक्ट्री में काम करते है। मीना के वापस आ जाने से उसने मीना को ग्राम फतेहपुर में अलग एक कमरा किराये पर दे दिया और मीना अपने दोनों बच्चों के साथ उस किराये के मकान में रहने लगी तथा मधुसूदन हर रोज उसके पास भी आने जाने लगा। इन सब बातों की जानकारी होने के फलस्वरूप गठित पुलिस टीम द्वारा मधुसूदन से शक के आधार पर पुछताछ की गई एवम उसकी दूसरी पत्नी एवम दोनो पत्नियों के बच्चों व मधुसूदन के फ़ोन रिकॉर्ड चेक किये गए तो विरोधाभास पाया गया जिस पर मधुसूदन से गहनता से पुछताछ की गई तो उसके द्वारा अपना जुर्म स्वीकार करते हुए बताया कि वह मीना की हरकतों से परेशान होकर पहले अपने घर से आया था , मीना फिर उसकी जिंदगी में आ गई थी और फिर वैसे ही हरकते कर रही थी इसलिए इसने दिनाँक 22. 11.2018 को सांय 7 बजे उसको घुमाने के बहाने आसनपुल धर्मावाला नदी के पास ले जा कर उसके सर पर जान से मारने की नीयत से पत्थर से वार किया और बेहोश हो जाने पर नदी में लगभग 15 मिनट तक डुबा कर रखा फिर मीना के मर जाने पर उसके शव को नदी में वहा दिया और घर आकर सबको बोल दिया कि वह उत्तरकाशी वापस चली गई है। मधुसूदन की निशानदेही पर नदी किनारे से खून से सना पत्थर एवम मीना के कान का कुंडल और मीना की चप्पल बरामद की गई। मीना के शव की तलाश की गई तो ज्ञात हुआ कि दिनाँक 25.11.2018 को एक महिला का अज्ञात शव थाना विकासनगर छेत्रन्तर्गत आसन नदी से बरामद किया गया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.