Breaking News Haridwar Latest News Uttarakhand Viral News

हरिद्वार: अब गुलदार ने यहां दी दस्तक, कुत्ते को ​बनाया निवाला

चंद्रशेखर जोशी।
आदमखोर गुलदार का अंत करने का वन विभाग भले ही दावा कर रहा हो, लेकिन गुलदार का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुलदार वन विभाग के कार्यालय के पास संतों के आवास निर्मला छावनी में घुस आया। यहां गुलदार ने कुत्ते को निवाला बना दिया। इसके बाद संतों में दहशत का माहौल है। संतों ने वन विभाग से गुलदार के आतंक से छुटकारा दिलाने की मांग की है।
बीती रात श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल की छावनी में घुसकर पालतू कुत्ते को निवाला बना लिया। महंत सतनाम सिंह ने बताया कि गत रात्रि छावनी में घुसे गुलदार ने पालतू कुत्ते को मार डाला है। इसके पूर्व भी पांच पालतू कुत्तों को गुलदार अपना शिकार बना चुका है। गुलदार के छावनी में आने से संत व आम लोग डरे हुए हैं। वन विभाग के अधिकारियों को कई बार गुलदार के आने की सूचना दी गयी है। लेकिन विभागीय अधिकारी गुलदार का आबादी में प्रवेश नहीं रोक पा रहे हैं। गुलदार की आमद से छावनी में निवास कर रहे संत भयभीत हैं। शाम ढलते ही गुलदार छावनी में प्रवेश कर जाता है।
आम जनमानस भी गुलदार के आने की वजह से अपने घरों में शाम ढलते ही कैद हो जाते हैं। महंत सतनाम सिंह ने कहा कि छावनी में वन विभाग के कर्मचारियों की तैनाती की जाए। रात्रि गश्त बढ़ाया जाए। छावनी में पल रहे कुत्तों व अन्य पशुओं को गुलदार लगातार निशाना बना रहा है। यह किसी भी सूरत में सहन नहीं किया जाएगा। गुलदार के कारण लोगों में डर भय का माहौल बना हुआ है। महंत अमनदीप सिंह ने बताया कि अखाड़े की छावनी में व आसपास के इलाकों में हजारों आबादी निवासी करती है। गुलदार का आबादी में आना चिंताजनक है।
गुलदार आने की सूचना दिए जाने के बावजूद अधिकारी कोई कदम नहीं उठा रहे हैं। गुलदार की आमद नहीं रोकी गयी तो वन मंत्री हरक सिंह रावत से संतों का प्रतिनिधिमण्डल मुलाकात कर उनसे सुरक्षा दिए जाने की गुहार लगाएगा। महंत अमनदीप सिंह ने कहा कि महाकुंभ मेला प्रारम्भ होने वाला है। अखाड़ों व छावनी में संतों के आने का क्रम भी जारी है। ऐसे में छावनी के आसपास गुलदार के प्रवेश को लेकर उचित प्रबंध किए जाने चाहिए। वन विभाग के अधिकारियों को फेंसिंग करानी चाहिए। जिससे गुलदार आबादी में ना सके। कोठारी महंत जसविन्दर सिंह, महंत खेमसिंह, संत तलविंदर सिंह, महंत सुखमन सिंह, संत रोहित सिंह, संत विष्णु सिंह आदि संतों ने भी गुलदार का प्रवेश रोकने की मांग करते हुए वनविभाग के खिलाफ रोष प्रकट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.