किसान आंदोलन पर क्या सोचती है एक दिन की सीएम बनने वाली सृष्टि

विकास कुमार।
हरिद्वार के दौलतपुर गांव की रहने वाली बीएससी की छात्रा सृष्टि गोस्वामी बालिका दिवस के मौके पर उत्तराखण्ड का एक दिन का सीएम बनाया जाएगा और अधिकारी उन्हें योजनाओं के बारे में बताएंगे और वो विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी। हालांकि सृष्टि बाल विधानसभा में एक दिन की सीएम बनने के लिए पूरी तरह तैयार हैं लेकिन हमने उनसे किसान आंदोलन के बारे में उनकी राय जाननी चाही। चूंकि वो खुद रुडकी के बीएसएम कॉलेज से कृषि विज्ञान में बीएससी कर रही हैं ऐसे में किसान आंदोलन में उनकी राय और ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाती है।
उनके पिता प्रवीण गोस्वामी ने बताया कि सृष्टि केंद्र सरकार के तीनों कृषि कानूनों को सही मानती है और सरकार के फैसले का समर्थन करती हैं। हालांकि उन्होंने बताया कि कृषि कानूनों को लेकर किसानों में असमंजस की स्थिति है और कानूनों को लेकर उन्हें समझाने की आवश्यकता है।


————–
बचपन से ही होनहार रही हैं सृष्टि
सृष्टि के पिता दौलतपुर गांव में एक छोटी सी किराने की दुकान चलाते हैं। और माता सुधा गोस्वामी आंगनबाड़ी कार्यकत्री है। एक छोटा भाई जो कक्षा 11 का छात्र है। सृष्टि के पिता बताते हैं की सृष्टि बचपन से ही काफी होनहार  रही है। वर्ष 2018 में उसे बाल विधानसभा में बाल विधायक भी चुना गया था। उन्होंने बताया कि वर्ष 2019 में सृष्टि ने गर्ल्स इंटरनेशनल लीडरशिप के लिए थाईलैंड में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। उन्होंने बताया की सृष्टि द्वारा दो वर्षों से आरंभ नामक एक योजना चलाकर क्षेत्र के गरीब बच्चों को शिक्षा के प्रति प्रेरित कर मुफ्त पुस्तकें दी जा रही हैं। सृष्टि के पिता ने बताया कि आज उनका सर फक्र से ऊंचा हो गया है। उनकी बेटी को आज एक ऐसा मुकाम हांसिल हुआ है। जो हिंदुस्तान के इतिहास में पहली बार होने जा रहा है।

test by harry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!