Breaking News Haridwar Latest News Uttarakhand Viral News

हरिद्वार: मंत्री—मेयर की नाक के नीचे घाट सफाई घोटाला, ऐसे आया पकड़ में, जाने क्या हुई कार्रवाई

चंद्रशेखर जोशी।
हरिद्वार में साठ करोड के पचास लाख पेड लगाने में हुए खेल के बाद अब घाटों की सफाई में धांधली पकड में आई है। हरिद्वार के 72 घाटों की सफाई का अत्याधुनिक मशीनों से ठेका अंकाक्षा नाम की संस्था को 15 करोड में तीन साल के लिए दिया हुआ है। इसे छह माह से अधिक का समय भी हो गया है। बावजूद इसके घाटों की सफाई नहीं हो रही है, जबकि संस्था को पैसा लगातार दिया जा रहा है। अधिकारी घाटों की जांच पर निकले तो पूरा मामला पकड में आया। अब नगर निगम की ओर से संस्था पर दो लाख रुपए जुर्माना लगाया गया है।
हालांकि, घाटों की सफाई में चल रहे खेल पर शुरू से ही सवाल खडे हो रहे थे, लेकिन ना तो शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक और ना ही कांग्रेस की मेयर अनीता शर्मा इसको लेकर संजीदा दिखे। मेयर अनीता शर्मा तो हमेशा शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक पर काम ना करने देने का इलजाम लगाकर अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाडती रहती है। ये अलग बात है कि धन की फाइलों पर साइन करते हुए सब एक हो जाते हैं।
इन 72 घाटों की सफाई को लेकर अफसर भी अभी तक हीलाहवाली ही करते नजर आ रहे थे। लेकिन नए मुख्य नगर आयुक्त आने के बाद अफसर सतर्क हो गए हैं। सहायक नगर अधिकारी उत्तम सिंह नेगी ने बताया कि घाटों की सफाई कार्य का निरीक्षण किया गया था। इसमें कई खामियां पाई गई। इससे पहले भी घटों की सफाई को लेकर संस्था को चेतावनी दी गई थी। लापरवाही पर संस्था पर दो लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा पार्किंग स्थलों पर सफाई न रखने के लिए भी पांच—पांच हजार का जुर्माना ठोंका गया है।

——————
क्या सेटिंग के बाद चुप हो जाते हैं कांग्रेसी
घाटों की सफाई को लेकर स्थानीय कांग्रेसियों ने बडा आंदोलन करने का ऐलान किया था। बाकायदा प्रेस वार्ता कर सरकार और शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक की मंशा पर सवाल खडे किए गए थे। सडक से अदालत तक जाने का ऐलान किया गया था। लेकिन, आज तक कांग्रेसी ना तो सडक पर उतरे और ना ही कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इससे तो यही लगता है कि कांग्रेसी सेटिंग—गेटिंग के खेल में ज्यादा विश्वास रखते हैं। इसी तरह नशे के खिलाफ आंदोलन करने की बात ज्वालापुर के एक कांग्रेसी पार्षद ने की थी। लेकिन, सब जबानी जमाखर्च ही निकला।
——————
घाट की सफाई नही हो रही है तो शिकायत करें
घाटों क सफाई नहीं हो रही है तो आप नगर निगम के अधिकारियों को शिकायत कर सकते हैं। इसके लिए नगर निगम में जाकर अधिकारियों को सीधे बताया जा सकता है। ताकि कार्रवाई हो सके। हालांकि स्थानीय गली मोहल्ले के नेताओं या फिर मेयर, मेयर पति, मंत्री के शिष्यों को शिकायत करने से आपको आश्वासन ही मिल सकते हैं। इसलिए सीधे अफसरों को शिकायत करें, या फिर हमें मैसेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.