Dehradun Jyotish Latest News

फैशन डिजाइनर मनीष मल्होत्रा अध्यात्म की शरण में

ऋषिकेश।
फैशन डिज़ाइनर और अनेक बार आइफा एवं फिल्म फेयर पुरस्कार विजेता मनीष मल्होत्रा अपने पूरे परिवार के साथ आज परमार्थ निकेतन पहुंचे उन्होने आश्रम पहुंच कर परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष, गंगा एक्शन परिवार के प्रणेता एवं ग्लोबल इण्टरफेथ वाश एलायंस के सह-संस्थापक स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी से मुलाकात कर आशीर्वाद प्राप्त किया।
परमार्थ गंगा तट पर नूतन वर्ष 2017 के स्वागत में तथा सम्पूर्ण विश्व में खुशहाली एवं हरियाली हो इस कामना से पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वती जी महाराज ने अनेक देशों- से आये भक्तगणों के साथ हवन किया। हवन के उपरान्त पूज्य स्वामी जी ने प्रसिद्ध परिधान डिजाइनर मनीष मल्होत्रा जी को रूद्राक्ष का पौधा भेंट किया।

sunil-arora-final-copy
चिदानन्द सरस्वती जी ने सभी भारतवासीयों को नये वर्ष की माँ गंगा के पावन तट एवं परमार्थ निकेतन ऋषिकेश के पावन प्रांगण से ढ़ेर सारी शुभकामनायें दी और कहा, इस नूतन वर्ष को ग्रीन पर्व के रूप में मनायें, इससे पर्यावरण की शुद्धि होगी साथ ही मन की शुद्धि पर भी ध्यान दें क्योंकि भीतर भी सफाई और बाहर भी सफाई, भीतर भी सच्चाई, बाहर भी सच्चाई रहे’ जिससे हमारा जीवन भी एक मिसाल, एक उदाहरण बन जाये। इसके लिये ज्यादा कुछ नहीं बस खुद को ही तपाना होगा। यह तपन जिसमें थोड़ी आग, थोड़ा त्याग और थोड़ा सा वैराग्य इतना ही तो चाहिये, इससे जीवन का हर कोना खिल उठेगा, जीवन के हर क्षण मंे हरियाली और खुशहाली होगी।’
स्वामी जी ने कहा कि श्री मनीष मल्होत्रा ने भारतीय परिधान को पूरे विश्व में एक विशिष्ट पहचान दिलाकर वैश्विक स्तर पर भारत का परचम लहराया है यह अति सराहनीय कार्य है और हमारे लिये गर्व का विषय है।
मनीष मलहोत्रा ने पूज्य स्वामी जी से चर्चा के दौरान अपने विचारों को साझा करते हुये कहा कि ’इस दिव्य भूमि पर पूज्य स्वामी जी के सानिध्य में आकर मन में आध्यात्मिक शान्ति का संचार हो रहा है। उन्होने कहा कि स्वामी जी द्वारा विभिन्न धर्मो के धर्मगुरूओं को एक मंच पर लाकर देश की जनता को स्वच्छता के प्रति जाग्रत करने का जो अभियान है यह हम सभी को मार्गदर्शन प्रदान करता है। उन्होने इस इण्टर फेथ अभियान की भूरि-भूरि प्रसंशा की। उन्होने कहा कि परमार्थ निकेतन एक पावन, पवित्र एवं मनोरम स्थान है। पवित्र गंगा एवं हिमालय के समिप इस दिव्य वातावरण में असीम आनन्द एवं शान्ति की परम अनुभूति हो रही है। इस दिव्य क्षेत्र का प्रत्येक दिन नव वर्ष है।’
इस दौरान जीवा की अन्तर्राष्ट्रीय महासचिव साध्वी भगवती सरस्वती, साध्वी आभा सरस्वती जी, सुश्री नन्दिनी त्रिपाठी, लोरी, एलिस, श्रीमती इन्दु, परमार्थ गुरूकुल के समस्त ऋषिकुमार, सभी आचार्यगण और अनेक देशी-विदेशी अतिथि शामिल हुये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.