Breaking News health Latest News Uttarakhand Viral News

डिप्रेशन: आओ बात करें— क्या है डिप्रेशन के कारण, क्यों इंसान चला जाता है मानसिक अवसाद में, जानिये

चंद्रशेखर जोशी। 

सिने स्टार सुशांत सिंह राजपूत की खुदकुशी के बाद हाल ही में टिकटॉक स्टार सिया कक्कड ने भी आत्महत्या कर ली। सिया कक्कड़ महज 16 साल की थी और बहुत ही कम समय में उन्होंने टिकटॉक पर अपनी पहचान बनाई। बताया जा रहा है कि सिया कक्कड भी डिप्रेशन में चल रही थी। लेकिन इतनी कम उम्र में सिया कक्क्ड जैसी हंसमुख और सोशल मीडिया स्टार को कौन सी बात ने परेशान कर दिया, जो उन्होंने आत्महत्या कर ली। पिछले आर्टिकल में हमने डिप्रेशन यानी मानसिक अवसाद के लक्षणों के बारे में चर्चा की थी और आज हम डिप्रेशन के कारणों के बारे में विस्तार से बताएंगे।

—————
डिप्रेशन के पीछे दिमाग का केमिकल लोचा
जाने—माने न्यूरो साइकेट्रिस्ट डा. राजीव रंजन तिवारी के अनुसार डिप्रेशन के कई कारण हो सकते हैं। क्लीनिकल भाषा में बात करें तो डिप्रेशन ब्रेन में न्यूरोट्रांसमीटर इंबेलेंस यानी एक प्रकार के केमिकल अंसुतलन (norepinephrine and serotonin) के कारण होती है। न्यूरोट्रांसमीटर्स नेचुरल कैमिकल्स होते हैं जो नर्व सेल्स के बीच संचार में मदद करते हैं। डा. राजीव रंजन तिवारी बताते हैं कि न्यूरोट्रांसमीटर इंबेलेंस जैनेटिक स्थिति पर काफी निर्भर करता है, यानी अगर जैनिटेकली एक्सपोज होते हैं तो विभिन्न कारणों से होने वाले तनाव के कारण आप डिप्रेशन के आसानी से शिकार हो जाते हैं। हालांकि, इस मानसिक तनाव के कारण अलग—अलग हो सकते हैं।

ये भी पढ़े—डिप्रेशन—आओ बात करें: क्या आप तो डिप्रेशन के शिकार नहीं, पढिए क्या होते हैं लक्षण

——————
हर किसी के लिए डिप्रेशन के कारक अलग होते हैं
डिप्रेशन के पीछे के कारकों की बात करें तो ये प्रत्येक इंसान में अलग—अलग होते हैं। कोई शादीशुदा जीवन को लेकर तनाव में चला जाता है तो कोई अपने रिश्तों को लेकर। कुछ नौकरी से परेशान होते हैं तो कुछ असफलता के कारण। कुछ का बचपन अच्छा ना होने या बचपन में किसी प्रकार का शोषण के कारण अवसादग्रस्त होते हैं। कुछ परिजनों के चले जाने पर या नौकरी चले जाने या आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण अवसाद में चले जाते हैं। भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तराखण्ड के सदस्य और जाने—माने आयुर्वेदाचार्य डा. महेंद्र सिंह राणा बताते हैं कि डिप्रेशन के कई कारण हो सकते हैं। लेकिन पिछले कुछ समय में जो सबसे प्रमुख कारण बनकर उभरा है वो है अतिमहत्वकांक्षा या संयम का अभाव। उन्होंने बताया कि अक्सर लोग जल्द सफलता चाहते हैं और अच्छा ​परिणाम ना मिलने के कारण वो अवसाद का शिकार हो जाते हैं। इसके अलावा पारिवारिक संबंधों में तनाव भी डिप्रेशन का मुख्य कारण बनकर उभरा है। अधिकतर सुसाइड के केस पारिवारिक संबंधों में दरार के कारण सामने आ रहे हैं। वहीं हम आपसी तालमेल की कमी और कम्युनिकेशन गेप यानी ​बातचीत का अभाव भी इसका एक मुख्य कारण है।


मुख्य तौर पर निम्न कारणों को भी डिप्रेशन का कारक माना जा सकता है 

अकेलापन
सामाजिक दूरी की कमी
वित्तीय समस्याएं
हाल में हुए तनावपूर्ण अनुभव
वैवाहिक या अन्य रिश्तों में खटास
खराब बचपन
शराब या अन्य नशीली दवाओं का सेवन
बेरोजगारी
काम का तनाव

ये भी पढ़े—डिप्रेशन—आओ बात करें: क्या आप तो डिप्रेशन के शिकार नहीं, पढिए क्या होते हैं लक्षण

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.