Newspaper Fraud

आरोप: दैनिक अखबार ने बैक डेट में छापे टेंडर, सर्कुलेशन में भी घोटाला, पत्रकार की शिकायत

विकास कुमार। 
हरिद्वार से प्रकाशित होने वाले दैनिक अखबार पर हरिद्वार के एक वरिष्ठ पत्रकार ने प्रकाशन में धांधली करने और विभागों के टेंडर और सूचना बैक डेट में छापकर सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाने के आरोप लगाए है। यही नहीं पत्रकार ने इसकी शिकायत सूचना एवं लोक संपर्क विभाग के महानिदेशक को भी की है। वहीं बताया जा रहा है कि इस शिकायत के बाद सूचना विभाग ने जांच शुरु कर दी है और अगर आरोप सही है तो इस मामले में अखबार के स्वामी और संपादक पर मुकदमा भी दर्ज हो सकता है। वहीं इस पूरे मामले से हरिद्वार में अखबार चलाने वाले तमाम पत्रकारों में हड़कंप मचा हुआ है।

::::::::::::::
क्या हैं आरोप
वरिष्ठ पत्रकार अमर सिंह निवासी ज्वालापुर ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि हरिद्वार से प्रकाशित हिंदी दैनिक अखबार उत्तराखण्ड प्रहरी केंद्र और राज्य सरकार के सूचना एवं लोक संपर्क विभाग से मिलने वाले विज्ञापनों को समाचार पत्र में प्रकाशित करता है लेकिन अखबार का प्रसार सिर्फ फाइल कापी तक सीमित है। यानी चंद कॉपी सिर्फ सूचना विभाग के दफ्तरों में जमा करने के लिए छपती है और जिसके कारण सरकारी योजनाओं का प्रचार—प्रसार नहीं होता है। यही नहीं पत्रकार ने ये भी आरोप लगाया कि जिस मशीन पर अखबार का प्रकाशन होता है वो भी गैरकानूनी है और प्रेस एक्ट का उल्लंघन है।

:::::::::::::::::::
बैक डेट में छापे विज्ञापन
वहीं पत्रकार अमर सिंह ने ये भी आरोप लगाया कि उत्तराखण्ड प्रहरी अखबार सरकारी विभागों से सेटिंग कर विभागों की निविदाएं और सूचनाओं को बैक डेट में फाइलों छापता है। जिससे इन टेंडरों के बारे में किसी को पता नहीं चलता है और सरकार को बडी हानि होती है। यही नहीं अमर सिंह ने इन सभी टेंडरों के सबूत सूचना विभाग को भी दे दिए हैं। वहीं इस मामले में जांच होती है तो वो सरकारी विभाग और इनके अफसर फंस सकते हैं जो इस खेल में शामिल हैं। अमर सिंह ने बताया कि ये एक बडा घोटाला है और इसकी जांच की जानी चाहिए। वहीं अखबार हरिद्वार के एक बडे कारोबारी विकास गर्ग का बताया जा रहा है।

::::::::::::::::::::
सूचना विभाग की भूमिका भी संदिग्ध
वहीं अखबारों की जानकारी रखने वाले सूचना विभाग में अगर इस तरह के तथ्य सामने आ रहे हैं तो ये सूचना विभाग की कार्यशैली पर भी सवाल खडे करता है। वहीं सूचना विभाग इस पूरे मामले में अब कार्रवाई की बात कह रहा है। हरिद्वार की जिला सूचना अधिकारी अर्चना सिंह ने बताया कि हरिद्वार में दैनिक और साप्ताहिक अखबार करीब 126 है जो विज्ञापन के लिए सूचीबद्ध है। हम अपने स्तर से सभी से मानकों को पूरा करने के लिए कहते हैं और अगर कोई मानक पूरा नहीं करता है तो नियमानुसार उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है।

adv.
test by harry

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!