Latest News चुनावी जंग

‘अंबरीष कुमार को कांग्रेस नहीं देगी टिकट, निर्दलीय लड़ने की उम्मीद’ जानिये क्यों

चंद्रशेखर जोशी।
पूर्व विधायक अंबरीष कुमार को रानीपुर विधानसभा सीट से कांग्रेस का उम्मीदवार बनाए जाने की संभावना अब खत्म होती नजर आ रही है। कांग्रेस ने टिकट बांटने का जो फार्मूला तैयार किया है, उसमें अंबरीष कुमार पिछड़ते नजर आ रहे हैं।
कांग्रेस के बडे नेताओं ने हाईकमान के सामने ये मांग रखी थी कि पिछले चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों के सामने बागी खडे होकर हार का कारण बनने वाले दावेदारों को टिकट ना दिया जाए। सूत्रों के मुताबिक टिकट आवंटन करने के दौरान इस बात का ध्यान रखा जाएगा। चूंकि अंबरीष कुमार पिछले चुनाव में निर्दलीय चुनाव लडे थे और दूसरे नंबर पर रहे थे। इनके कारण कांग्रेस प्रत्याशी बलवंत सिंह चौहान चौथे नंबर पर आए थे। इस बार पहले से ही स्थानीय कांग्रेस नेता उनको टिकट दिए जाने का विरोध कर रहे हैं। ऐसे में हाईकमान ने सीनियर कांग्रेसजनों की राय को माना तो अंबरीष कुमार के पास कोई चारा नहीं रहेगा। ऐसे में अंबरीष कुमार एक बार फिर निर्दलीय ताल ठोंक सकते हैं। ऐसा हुआ तो कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। हालांकि, स्थानीय कांग्रेसियों का दावा है कि अंबरीष कुमार इस बार निर्दलीय चुनाव लडेंगे तो पहले जैसा माहौल नहीं बन पाएगा।
वहीं दूसरी ओर अंबरीष कुमार के नजदीक लोगों की मानें तो अंबरीष गुट भी इस बात को समझ रहा है कि एन वक्त पर बात अटक सकती है। ऐसे में अंबरीष कुमार प्लान बी पर काम करेंगे। ये प्लान बी निर्दलीय उतरने का ही हो सकता है। हालांकि, बीच में चर्चा ये भी थी कि अंबरीष कुमार बसपा में जा सकते हैं। लेकिन अंबरीष कुमार ने इसे खारिज कर दिया था। एक बात तो साफ है कि स्थानीय कांग्रेसियों में कोई भी नहीं चाहता है कि अंबरीष कुमार को टिकट दिया जाए। इसको लेकर कांग्रेसी विरोध भी कर रहे हैं। राव आफाक, राजबीर चौधरी, राम विशाल देव, रामयश सिंह समेत तमाम नेता इस बात को बार—बार कहते भी हैं और कई बार सीएम हरीश रावत के पास फरियाद लेकर भी पहुंचे हैं। ऐसे में अंबरीष कुमार की नैया भंवर में डोलती नजर आ रही है। इसका एक पक्ष ये भी है कि अंबरीष कुमार के पास अपना वोटबैंक भी है, अगर कांग्रेस उन पर दांव नहीं खेलती है तो ये कांग्रेस को भारी भी पड सकता है।
क्या कहते हैं नेता
हम पहले से ही कहते आ रहे हैं कि बागियों को टिकट नहीं देना चाहिए। इससे पार्टी कार्यकर्ताओं पर विपरीत असर पडता है। हम इसका विरोध कर रहे हैं।
राव आफाक, दावेदार रानीपुर।

 
पार्टी के वफादार सिपाहियों को ही टिकट मिलना चाहिए। जिन्होंने पिछली बार चुनाव लडकर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया है, उन्हें टिकट नहीं देना चाहिए। ये पार्टी हित में नहीं होगा।
राजबीर सिंह, दावेदार, रानीपुर।

 

हम पार्टी के फैसले का सम्मान करेंगे, लेकिन कांग्रेस की जडों में मट्ठा डालने वाले लोगों को टिकट नहीं मिलना चाहिए। इससे कार्यकर्ताओं में गलत संदेश जाता है।
राम विशाल, दावेदार, रानीपुर।

3 Replies to “‘अंबरीष कुमार को कांग्रेस नहीं देगी टिकट, निर्दलीय लड़ने की उम्मीद’ जानिये क्यों

  1. इनके नाम पर तो शायद चर्चा भी नही करेगा आलाकमान । टिकट तो राव आफाक अली को होगा इंशाअल्लाह।
    विकास के नाम पर व हरीश रावत के नाम चुनाव लड़ेंगे राव आफाक अली और रानीपुर विधानसभा कांग्रेस की झोली में डालेगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.