Latest News चुनावी जंग

‘गुटबाजी से फेल हुआ सीएम का प्रोग्राम, नाराज सीएम ने कांग्रेसियों को फटकारा’

एसएन चौधरी।
सीएम हरीश रावत जितनी मेहनत कांग्रेस को अव्वल बनाने के लिए कर रहे हैं उतनी ही कसरत हरिद्वार के कांग्रेसी कांग्रेस को गुटबाजी के चलते डुबाने के लिए कर रहे हैं। यही कारण है कि बुधवार को सीएम के कार्यक्रम में माइक और कुर्सियां तक नहीं मिल पाई। इससे गुस्साए सीएम ने सतपाल ब्रह्मचारी सहित तमाम कांग्रेसियों को जमकर फटकार लगाई। इतना ही नहीं सीएम ने ये तक कह दिया कि कि उनका गुस्सा अभी देखा नहीं है। सीएम हरीश रावत के ज्वालापुर पुल जटवाडा स्थित कार्यक्रम में रविदास घाट का उद्धाटन करने आए थे। इसमें चंद आदमी मौजूद थे और सीएम के लिए माइक तक नहीं था। इससे सीएम हरीश रावत ने सीधे सतपाल ब्रह्मचारी को जमकर फटकार लगाई। सीएम का रौद्र रूप देखकर दूसरे कांग्रेसियों को भी अपनी औकात नजर आ गई। लेकिन सीएम हरीश रावत की फटकार के बाद भी कांग्रेसी एक दूसरे की जडों में मट्ठा देने से बाज नहीं आ रहे हैं।
सीएम हरीश रावत हरिद्वार में बहुत मेहनत कर रहे हैं। लेकिन कांग्रेसी टिकट की लडाई में ऐसा डूबे हैं कि सीएम हरीश रावत के तमाम प्रयासों पर पलीता लगा रहे हैं। हरीश रावत का बुधवार को हरिद्वार में कार्यक्रम था। सबसे पहले उन्हें एक्कड जातना था इसके बाद बहादराबाद और फिर ज्वालापुर में रविदास घाट का शुभारंभ करने के बाद लाल पुल पर विश्वकर्मा समाज के कार्यक्रम में शामिल होना था। एक्कड और बहादराबाद कार्यक्रम खत्म करने के बाद सीएम हरीश रावत जैसे ही ज्वालापुर पुलजटवाडा पर पहुंचे तो वहां ना तो माइक की सुविधा थी और ना ही टेंट लगा था। महज सौ लोग सीएम के कार्यक्रम के लिए मौजूद थे। दलित समाज का कार्यक्रम होने की जानकारी दलित समाज के नेताओं को भी नहीं दी गई थी। इसे देख सीएम हरीश रावत का पारा चढ गया। उन्होंने दलित नेताओं की शिकायत पर हरिद्वार नगर सीट से दावेदारी कर रहे सतपाल ब्रह्मचारी को जमकर तलाड लगाई। सीएम हरीश रावत ने ये तक कह दिया कि तुमने अभी मेरा गुस्सा नहीं देखा है। मैं जितनी मेहनत कर रहा हूं तुम सब उस पर पलीता लगा रहे हैं। सीएम हरीश रावत ने दलित नेताओं को जानकारी ना दिए जाने को लेकर प्रशासन पर भी गुस्सा उतारा। इससे प्रशासनिक अधिकारियों के हाथ फूल गए। बाद में किसी तक हरीश रावत का गुस्सा शांत हुआ। लेकिन हरीश रावत फोटो खिंचवाने वाले नेताओं को उनकी औकात याद दिलाना नहीं भूले। गुटबाजी के चक्कर में हरीश रावत की तमाम मेहनत पर हरिद्वार के कांग्रेसी पानी फेरने में लगे हुए हैं। इसकी बानगी आज के कार्यक्रम में साफ देखने को मिली।
क्या कहते हैं नेता

हमें कार्यक्रम की जानकारी नहीं मिल पाई। बुधवार को मीडिया से ही हमें जानकारी मिली। फिर भी हमने अपने लोगों को कार्यक्रम में भेज दिया था। किरण पाल बाल्मिकी का इलाका होने के बाद भी उन्हें जानकारी नहीं थी। वो भी मेेरे साथ थे। सही तरीके से सूचना नहीं मिलने से ऐसा हुआ। सूचना होती तो एक आवाज पर हम हजारों की भीड जमा कर देते।
अंबरीष कुमार, पूर्व विधायक हरिद्वार।
हमें कार्यक्रम की जानकारी नहीं थी। हम सीएम के हर कार्यक्रम में जाते हैं। लेकिन इसकी सूचना नहीं दी गर्इ्। जो भी हुआ गलत था।

किरण पाल वाल्मिकी, अध्यक्ष सफाई कर्मचारी आयोग।

 

दलितों का कार्यक्रम होने के बाद भी हमें जानकारी नहीं थी। शहर कांग्रेस को ये बताना चाहिए था। हम इस कार्यक्रम को अच्छे तरीके से कराते। जो भी हुआ वो दुर्भाग्यपूर्ण था। हमने सीएम को अपनी पीडा बताई थी। इसके बाद ही उन्होंने सतपाल ब्रह्मचारी से जवाब तलब किया।
सीपी सिंह, वरिष्ठ कांग्रेस नेता।

 

मुझे कार्यक्रम की जानकारी नही थी। जिन नेताओं को जानकारी थी, उन्हें संगठन से जानकारी साझा करनी चाहिए थी। इस संबंध में ​हाईकामन के साथ—साथ सीएम हरीश रावत से भी चर्चा की जाएगी।
अंशुल श्रीकुंज, शहर अध्यक्ष, कांग्रेस।

One Reply to “‘गुटबाजी से फेल हुआ सीएम का प्रोग्राम, नाराज सीएम ने कांग्रेसियों को फटकारा’

  1. काम किसी का सजा किसी को ये तो रीत है हकीकत से कोषो दुर है मुख्य मन्त्री. सी. एम. का कार्य कर्म मिलते ही. अनुसूचित जाति विभाग कांग्रेस उत्तराखंड के वाटसप गुरूप पर पहुँचा दी गई थी जानकारी. यह गुरूप उत्तराखंड से लेकर सीधे दिल्ली रिड किया जाता है. लेकिन बसपा छोड कांग्रेस मे शामिल हुए टिकट चाह पालने वाले ऐसे कलाकार जो कभी कांग्रेस के थे ही नहीं जिन्होने जिन्दगी भर बसपा की गुलामी करी हमेशा कांग्रेस पर दलितों ओर पिछड़ों का सहारा लेकर हमलावर रहे ओर गांधी परिवार के विषय में हमेशा अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया गंदी टिप्पणीया की आज भी बसपा की विचारधारा रखते हैं ओर अन्दर ही अन्दर कांग्रेस को खोखला करने मे लगे जिन्होने कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के अन्दर कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों को हरिद्वार के नाम पर साइड कर दिया है और बसपा विचारधारा को पनपा रहे हैं ओर कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के अन्दर बसपा की बी टीम तैयार कर चुके जिसका परिणाम संत रविदास घाट पर देखने को मिला ये तो अनुसूचित जाति कांग्रेस के नाम अभी शुरू वात है लेकिन इस ओर बार बार इशारा किया गया ओर वह लेकिन ही रहा गया इस .
    सुधीर कुमार सुनेहरा प्रदेश संगठन सचिव उत्तराखण्ड कांग्रेस व मुख्य उपाध्यक्ष अनुसूचित जाति विभाग कांग्रेस उत्तराखंड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.