Latest News Viral News

प्रत्याशी और उनके रिश्तेदारों के खातों पर रहेगी नजर, बैंकों को निर्देश

एसएन चौधरी।
विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2017 के दौरान राजनैतिक दलों एवं निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों द्वारा प्रयोग की जानी धनराशि के सम्बन्ध में जिलाधिकारी हरबंस सिंह चुघ ने कलक्ट्रेट सभागार रोशनाबाद में जिलास्तरीय अधिकारियों एवं बैंक के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान किसी भी व्यक्ति के बैंक खाते से नकद की प्रतिदिन संदेहास्पद स्थिति पर निगरानी रखी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान दस लाख रूपये से अधिक नकदी की राशि की संदेहास्पद प्रकार की निकासी का कोई मामला सामने आने तथा बिना किसी पूर्व स्थानान्तरण के जिला/ निर्वाचन क्षेत्र में विभिन्न व्यक्तियों के खाते में एक ही बैंक खाते से आर टी जीएस द्वारा राशि के असामान्य रूप से स्थानान्तरण किये जाने की स्थिति में सूचना जिला निर्वाचन अधिकारी को देनी होगी। उन्होंने यह भी कहा कि हलफनामें में उल्लिखत अभ्यिर्थियों, उनके पति/पत्नी या उनके आश्रितों के बैंक खाते से एक लाख से अधिक की नकदी को जमा करने या निकालने तथा राजनैतिक दल के खाते में एक लाख से अधिक नकदी जमा करने या निकालने की स्थिति में भी बैंक जिला निर्वाचन अधिकारी को इसकी रिपोर्ट देंगे। जिसकी आवश्यकता पड़ने पर आयकर विभाग के माध्यम से जाॅच कर आवश्यक कार्यवाही की जायेगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि बैंक यह सुनिश्चित करेंगे कि बाहय स्रोत से प्राप्त नकदी ले जाने वाली गाड़ियां किसी भी परिस्थिति में बैंक की नकदी के अतिरिक्त किसी अन्य पक्ष की नकदी नही ले जाएंगी। उन्होंने कहा कि निर्वाचन व्यय के लिए अभ्यर्थी स्वयं के नाम से या अपने निर्वाचन एजेंट के साथ संयुक्त रूप से नया खाता खोल सकता है। खोले गये बैंक खाते से अभ्यर्थी ‘क्रास एकाउंट पेई चेक’ द्वारा सभी निर्वाचन व्यय करेंगे।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी डाॅ मेहरबान सिंह बिष्ट, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ अभिषेक त्रिपाठी, अपर जिलाधिकारी वित्त डाॅ ललित नारायण मिश्र, संयुक्त मजिस्ट्रेट रूड़की मयूर दीक्षित, नगर मजिस्ट्रेट जय भारत सिंह, मुख्य कोषाधिकारी रत्नेश कुमार, उप जिलाधिकारी हरिद्वार मनीष कुमार, उप जिलाधिकारी भगवानपुर अनिल गब्र्याल, एएसडीएम रूड़की गोपाल सिंह चैहान, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी पी.बी. बुधलाकोटी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.