Latest News Roorkee Uttarakhand

बस जांच कराने के लिए घंटों दिया धरना, ये काम तो फोन पर होना चाहिए था विधायकजी 

परवेज आलम, रूडकी।
भाजपा युवा नेता को गिरफ्तार किए जाने के विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं ने गंगनहर कोतवाली में शुक्रवार को करीब पांच घंटे तक धरना दिया। इस दौरान रूडकी विधायक प्रदीप बत्रा और खानपुर विधायक प्रणव सिंह चैंपियन भी पहुंच गए। बाद में एसएसपी कृष्ण कुमार वीके मौके पर पहुंचे और सीपीयू के जिस दारोगा से भाजपा नेता का विवाद हुआ था उसे लाइन हाजिर कर दिया गया। लेकिन कोतवाली प्रभारी अमरचंद शर्मा जिन पर भाजपाई अभद्रता का आरोप लगा रहे थे, के खिलाफ जांच के आदेश देकर धरना समाप्त करा दिया।
लेकिन भाजपा सरकार में होते हुए दो—दो विधायकों को कोतवाली के बाहर धरने पर पहुंचना पडा। अब भाजपा कार्रवाई को अपनी जीत बता रहे हैं। लेकिन जिस तरह की कार्रवाई भाजपाई चाह रहे थे, उसे कप्तान ने सिरे से नकार दिया। भाजपाई कोतवाल के खिलाफ कडी कार्रवाई के मांग पर अडे थे। लेकिन एसएसपी ने उन्हें जांच की आश्वासन देकर ही मना लिया। अब जांच एक सप्ताह बाद आएगी। लेकिन अगर महज जांच ही करानी थी तो इतना हंगामा क्यों खडा किया गया। ये तो विधायकों के एक फोन पर हो जाना चाहिए था। लेकिन अपनी ही सरकार में भाजपा नेताओं को धरने पर बैठने को मजबूर होना पडा। एसएसपी कृष्ण कुमार वीके ने कोतवाल अमरचंद शर्मा की जांच एसपी सिटी ममता वोहरा को दी है। ये जांच एक सप्ताह में की जानी है। हालांकि कप्तान ने ये भी माना है कि सीपीयू ने कडी कार्रवाई कर दी। इस पर सीपीयू के सब इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.