अंबरीष विरोधियों को महानगर अध्यक्ष अंशुल ने ठहराया ‘झूठा’

एसएन चौधरी।
पूर्व विधायक अंबरीष कुमार का टिकट कटवाने के लिए एकजुट होकर आए अंबरीष विरोधियों को कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष अंशुल श्रीकुंज ने गलत साबित कर दिया।
प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में अंबरीष विरोधी गुट ने एक सूचनी पेश की जिसमें रानीपुर से सतरह दावेदारों के नाम थे। इस सूची में अंबरीष कुमार का नाम नहीं था और इनका कहना था कि अंबरीष कुमार ने आवेदन ही नहीं किया है। ऐसे में इन 17 लोगों में से ही टिकट दिया जाना चाहिए। लेकिन, अंबरीष विरोधी इस गुट को सही जानकारी नहीं थी। अंबरीष कुमार पहले ही महानगर अध्यक्ष अंशुल श्रीकुंज को आवेदन कर चुके हैं। अंशुल श्रीकुंज जो कि खुद रानीपुर से दावेदार हैं उन्होंने बताया कि अंबरीष कुमार ने विधिवत मुझे आवेदन किया था। मैंने सभी आवेदन पार्टी हाईकमान को सौंप दिए हैं। हालांकि, प्रेस क्लब में सभी 17 दावेदारों को बुलाया गया था लेकिन उसमें अंशुल श्रीकुंज और कुछ अन्य दावेदार नहीं आ पाए थे।
इतना ही नहीं अंबरीष विरोधी गुट ने साफ कहा कि अंबरीष कुमार को टिकट नहीं लेने देंगे और अंबरीष का टिकट अगर हुआ तो हम घर बैठ जाएंगे, अंबरीष को जिताने के लिए काम नहीं करेंगे। इससे पहले भी कई बार अंबरीष विरोधी गुट अंबरीष कुमार के खिलाफ बैठकें कर चुका है। कई बार सीएम से भी शिकायत हो चुकी है। वहीं अंबरीष कुमार ने बताया कि टिकट का फैसला पार्टी को करना है पार्टी जिसे भी देगी हमें मंजूर होगा। हम पार्टी के लिए काम कर रहे हैं। पार्टी को जिताने वाले उम्मीदवार को ही टिकट देना चाहिए। मैंने भी आवेदन किया है, मुझे लगता है कि पार्टी मुझ पर विचार करेगी।
किसने क्या कहा

हम 17 दावेदारों में से ही टिकट मिलना चाहिए। हममें से टिकट मिला तो हम जीजान से काम करेंगे। अंबरीष की जिम्मेदारी हम नहीं ले पाएंगे।
राव आफाक, दावेदार।
अंबरीष जहां भी रहते हैं वहां सूखा पड जाता है। नगर निगम को भी बर्बाद करने में उनका हाथ है। 1980 से लगातार कांग्रेस को हराने का काम अंबरीष ने किया है। ऐसे में अंबरीष को टिकट नहीं देना चाहिए।
प्रदीप चौधरी, दावेदार।
अंबरीष का किसी भी कीमत पर समर्थन नहीं करेंगे। हम चुनाव में नहीं निकलेंगे। हम 17 में से ही किसी को टिकट मिलना चाहिए।
विमला पाण्डेय, दावेदार।
हममें से ही किसी एक पर पार्टी को विचार करना होगा। हम सब एक दूसरे के लिए काम करेंगे।
राजबीर चौहान, दावेदार।
हम पार्टी के साथ हैं, पार्टी जिसे भी टिकट देगी, उसका साथ दिया जाएगा। लेकिन टिकट उसे मिलना चाहिए जो पार्टी का सच्चा सिपाही हो और पार्टी की विचारधारा में उसकी निष्ठा हो।
राम विशाल दावेदार।

 

ये हैं 17 दावेदार
रामयश सिंह, ओपी चौहान, प्रदीप चौधरी, मनोज जैन, महेश प्रताप राणा, पूनम भगत, राव आफाक, राजबीर चौहान, विमला पांडे, अरूण चौहान, आशीष चौधरी, राम विशाल, संजय शर्मा, अंशुल श्रीकुंज, तेलूराम, संतोष कश्यप, संजय पाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!