कोरोना: कोरोना से फिर 13 मौत, सरकार ने जिलाधिकारियों को ये करने के लिए बोला

रतनमणी डोभाल।
उत्तराखण्ड में कोरोना से शनिवार को 13 लोगों की मौत की खबर सामने आई। ये मौतें प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में हुई है। वहीं पिछले कुछ दिनों से मरने वालों की संख्या के लगातार सामने आने से सरकार भी चिंतित है और शनिवार को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सभी 13 जनपदों के जिलाधिकारियों से वीडियो क्रांफेंसिंग से वार्ता कर कोविड के डेथ रेट को कम करने के लिए विशेष प्रयास करने के लिए बोला। उन्होंने कहा कि कोविड के कारण जिन लोगों की मृत्यु हो रही है, किसी अन्य रोग से ग्रसित होने, देरी से अस्पताल में पहुंचने या अन्य किस कारण से हो रही है, इसका पूरा विश्लेषण किया जाय। किसी भी कोविड के मरीज को हायर सेंटर रेफर किया जाना है, तो इसमें बिलकुल भी विलम्ब न किया जाय। रिकवरी रेट बढ़ाने के लिए और प्रयासों की जरूरत है। शनिवार को उत्तराखण्ड में 424 कोरोना केस सामने आए, इनमें सबसे ज्यादा देहरादून में मिले हैं। वहीं हरिद्वार सहित अन्य प्रभावित जनपदों साप्ताहिक अवकाश को भी लागू कर दिया गया है, जिसे सख्ती से पालन कराया जा रहा है।

————
कोविड रिपोर्ट शहरी क्षेत्रों में 24 घंटे के भीतर मिले
वहीं कोरोना की जांच रिपोर्ट मिलने में आ रही देरी को देखते हुए सीएम ने जिलाधिकारियेां को निर्देशित किया कि शहरी क्षेत्र में कोरोना की रिपेार्ट किसी भी हालत में 24 घटें अंदर मिले और पर्वतीय क्षेत्र में 48 घंटें में रिपोर्ट मिल जाए। यही नहीं टेस्टिंग को बढाते हुए आरटीपीसीआर टेस्ट पर विशेष ध्यान दिया जाय। एन्टीजन टेस्ट में नेगेटिव पाये जाने पर यदि व्यक्ति सिम्पटोमैटिक है, तो उनका शत प्रतिशत आरटीपीसीआर हो। वहीं सीएम ने मास्क ना पहनने वालों के चालान के साथ—साथ मास्क उपलब्ध कराने पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि महज राज्सव वसूलना इसका मकसद नहीं है। चालान के साथ लोगों को जागरूक कर मास्क भी दियाजाए। वहीं स्वास्थ्य विभाग को वैक्सीन के लिए भी तैयारी करने के निर्देश दिए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!