Breaking News
Home / शहर / राज्य / Haridwar / बिना दवाओं के रोगों का उपचार करने पर मिला उत्तराखण्ड रत्न

बिना दवाओं के रोगों का उपचार करने पर मिला उत्तराखण्ड रत्न

राकेश वालिया, हरिद्वार।
बिना औषधियों के उपचार करने में सफलता प्राप्त करने वाले डाॅ0 अजय मगन को आॅल इण्डिया कान्फ्रेस आॅफ इंटेलेक्चुअल्स द्वारा उत्तराखण्ड रत्न से सम्मानित करने पर आज भारत साधु समाज की ओर से संत समाज ने जयराम आश्रम में उनको पगड़ी पहनाकर आशीर्वाद दिया। साथ ही हीलिंग पैथी के जरिए सम्पूर्ण भारत में उपचार के प्रचार प्रसार की प्रेरणा दी।
डाॅ0 अजय मगन को पगड़ी पहनाकर आशीर्वाद देते हुए श्री जयराम आश्रमों के परमाध्यक्ष तथा अखिल भारतीय साधु समाज के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष स्वामी ब्रह्मस्वरूप ब्रह्मचारी ने कहा कि स्वस्थ मानवता में ही स्वस्थ विचारधारा का संचार होता है। भारत में ऋषि मुनियों के पास आज भी ऐसी विधायें हैं जो बिना औषधि के ही व्यक्ति को स्वस्थ बना देती है। डाॅ अजय मगन द्वारा कास्मिक हीलिंग, ओरा हीलिंग तथा फ्रीक्वेंसी हीलिंग के क्षेत्र में जो कार्य किया गया है। उसके लिए वे साधुवाद के पात्र है और अपने पिता प्रसिद्ध वैध स्व0 विजय शास्त्री द्वारा प्रारम्भ किए गए सेवा प्रकल्पों को जो विस्तार उन्होंने दिया है उसके लिए इस सम्मान के साथ ही इनका नागरिक अभिनन्दन भी होना चाहिए। बाबा बलरामदास हठयोगी ने हीलिंग पैथी को ऋषि परम्परा की अनमोल धरोहर बताते हुए कहा कि समाज के अन्तिम छोर पर बैठे व्यक्ति को भी इस पैथी का लाभ मिलना चाहिए और योग तथा आयुर्वेद की भांति इस ऋषि परम्पराओं का व्यवसायीकरण नहीं होना चाहिये उन्होंने डाॅ0 अजय मगन के उज्जवल भविष्य की कामना की।
भारत साधु समाज के राष्ट्रीय सचिव स्वामी ऋषिश्वरानंद तथा उत्तराखण्ड राज्य इकाई के प्रदेश अध्यक्ष श्री महंत देवानंद सरस्वती ने कहा कि सम्पूर्ण मानवता एवं सृष्टि के कल्याण की व्यवस्थायें केवल सनातन सभ्यता में थी जो अब पाश्चात्य सभ्यता के बाद अस्तित्वहीन होने लगी थी लेकिन दो युग बीतने के बाद अब पूरा विश्व फिर से भारतीय संस्कृति एवं व्यवस्थाओं की ओर आशा भरी निगाहों से देख रहा है। संतो ंके आशीर्वाद से अविभूत डाॅ0 अजय मगन ने कहा कि ऋषि मुनियो ने इस प्राचीन विद्या को पूरे देश में निशुल्क सेमिनार कर प्रचारित कर रहे हैं जिससे लाखों व्यक्ति लाभान्वित भी हो चुके हैं। डाइबिटीज, हाइपरटेशन तथा जोड़ो के दर्द के लिए रामबाण विद्या बताते हुए कहा कि कई बीमारियों में बिना औषधि के स्वयं की उर्जा तथा सकारात्मक ऊर्जा असाध्य बीमारियों का भी उपचार किया जा सकता है। उन्होनंे बताया कि इसकी प्रेरणा उनको अपने पूज्य पिता स्व0 डाॅ0 विजय शास्त्री एवं माता शोभा देवी और स्व0 दादी पुष्पावती से प्राप्त हुई थी जिन्होंने स्वयं भी आयुर्वेद के क्षेत्र में योगदान देकर आरोग्य का झंडा बुलंद किया। डाॅ0 अजय मगन ने कहा कि मुझ पर योग गुरू स्वामी बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण का आशीर्वाद प्राप्त है और इनके द्वारा जो पूरे विश्व में योग को ख्याति प्राप्त हुई है वह अपने आप में एक अद्भुत चमत्कार है जिस पूरा विश्व आदि अनादिकाल तक याद रखेगा। आशीर्वाद समारोह को स्वामी साधनानंद तथा श्री गुरू डाॅ0 आनन्दमय ने भी आशीर्वाद से अविभूत किया।

About news129.com

Check Also

ज्यादा लाइक के चक्कर में गर्लफ्रेंड से संबंध बनाते हुए वीडियो फेसबुक पर डाला, गिरफ्तार

ब्यूरो। केरल के इडुकी जनपद में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां 23 साल …

2 comments

  1. Please send me his contact details to talk to him or chat with him. Thanks

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!